फोन इन के जरिए पैनल ने दिए स्टार्टअप से जुड़े सवालों के जवाब

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: स्टार्ट अप योजना क्या है और इसके जरिए कैसे सफल एंटरप्रेन्योर बना जा सकता है? मंगलवार को हमारे द्वारा बनाए गए एक्सपर्ट पैनल ने स्टार्ट-अप से जुड़े सवालों के जवाब दिए.

सवाल: शहर में कितने लोग ऐसे हैं जिन्होंने स्टार्टअप से नया बिजनेस शुरू किया?

-विभव, मुट्ठीगंज

जवाब: इस साल ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने वालों में से 17 सेलेक्ट हुए हैं. यह सभी आइडिया बेस्ड बिजनेस कर रहे हैं.

सवाल: स्टार्टअप में शुरुआती पूंजी का इंतजाम कहां से किया जा सकता है?

-सतेंद्र सिंह, सिविल लाइंस

जवाब: हर स्टार्टअप पूंजी की मुश्किलों से गुजरता है. इससे बचने के दो उपाय हैं. आप सिडबी या बैंक का सहारा ले सकते हैं. एंजेल इन्वेस्टर्स का सहारा भी ले सकते हैं.

सवाल: मैं स्टार्टअप से जुड़ना चाहता हूं. सरकार से हमें क्या रियायत या मदद मिलेगी?

-इमरान खान, दरियाबाद

जवाब: स्टार्टअप से जुड़ने के बाद आपकी कंपनी को किसी भी निरीक्षण से छूट मिलेगी. कैपिटल गेन में शुरुआती तीन साल में इनकम टैक्स नहीं लिया जाएगा.

सवाल: खुद का ऑनलाइन बिजनेस है और क्या इसे स्टार्टअप में शामिल करा सकता हूं?

-सुदीप मेहरोत्रा, अशोक नगर

जवाब: नियमानुसार स्टार्टअप वह कंपनी मानी जाएगी जो 5 साल से ज्यादा पुरानी न हो. किसी भी फाइनेंशियल ईयर में टर्नओवर 25 करोड़ के पार न गया हो. बिजनेस कॉन्सेप्ट बिल्कुल नया हो और जो मौजूदा प्रॉडक्ट या सर्विस में बड़ा चेंज ला रहा हो.

सवाल: स्टार्टअप शुरू करने के बाद किन लोगों से बचकर रहना चाहिए?

-प्रियंका, स्टैनली रोड

जवाब: स्टार्टअप सफल है तो आइडिया चोरी करने वालों या आपका बिजनेस खरीदने या हड़पने वालों से बचना होगा. खासकर स्टार्टअप शार्क से दूरी बनाकर रखनी होगी.

सवाल: स्टार्टअप कंपनी को घर से चला सकते हैं या इसके लिए ऑफिस बनाना होगा?

-गौरव मिश्रा, मम्फोर्डगंज

जवाब: ऐसी कोई शर्त नहीं है. आप बिजनेस घर से चला सकते हैं. ऑफिस होना इतना जरूरी नहीं है.

सवाल: मैं एक एप लांच करना चाहता हूं. डर लगता है कि कहीं एप डेवलप कराने के दौरान आइडिया कॉपी न हो जाए?

-सुभाष गुप्ता, मुट्ठीगंज

जवाब: आप अपना एप बनवाना शुरू कर दीजिए. प्राइवेसी की जिम्मेदारी संबंधित एजेंसी होगी.

सवाल: स्टार्टअप शुरू करने के लिए क्या सरकार की ओर से कोई ट्रेनिंग दी जाती है?

-विक्रम चौहान, बैंक रोड

जवाब: अभी ऐसी कोई व्यवस्था नहीं है. हां स्टार्टअप की हेल्प के लिए इनक्यूबेटर्स जरूर बनाए गए हैं जहां से टेक्निकली हेल्प ली जा सकती है.

हमारे एक्सपर्ट पैनल में यह रहे शामिल

1. वीके टंडन, अध्यक्ष, ईस्टर्न यूपी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री

2. अजय चौरसिया, डिप्टी कमिश्नर, उद्योग विभाग

3. अनिरुद्ध सिंह, डायरेक्टर, लिफाफा फूड्स एंड बेवरेजेस

4. विवेक राजपूत, आईटी एक्सपर्ट

5. सेविश सिद्दीकी, सीनियर मैनेजर क्रेडिट, पीएनबी