- राजकीय जुबिली इंटर कॉलेज के भवन और हॉस्टल का होगा जीर्णोद्धार

- ए ग्रेड कॉलेज होने के बाद भी हॉस्टल की स्थिति बहुत खराब

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :

ग्रेडिंग में लगातार 'ए' ग्रेड लाने वाले राजकीय जुबिली इंटर कॉलेज के भवन और जर्जर हॉस्टल का जल्द जीर्णोद्धार कराया जाएगा. इसके साथ ही नवनिर्मित राजकीय बालिका इंटर कॉलेज छोटी जुबली का भी आधुनिकीकरण होगा. इसके लिए शासन ने करीब 3 करोड़ 40 लाख रुपए के बजट की मंजूरी दी है.

ग्रीन स्कूल-क्लीन स्कूल के तहत मिले थे 50 लाख

दरअसल, राजकीय जुबिली इंटर कॉलेज का भवन काफी पुराना है. ग्रीन स्कूल-क्लीन स्कूल योजना के तहत इस स्कूल को भी 50 लाख रुपए में स्मार्ट बनाया जाना था. लेकिन कार्यदायी संस्था ने अधूरा काम कराया. जिसकी जांच चल रही है. बिल्डिंग का कुछ हिस्सा काफी पुराना है. ऐसे में डीआईओएस डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने जर्जर हिस्से की रिपेयरिंग कराने, क्लास रूम में पुरानी वायरिंग की जगह नई बिजली की वायरिंग के साथ-साथ कॉलेज में आरसीसी रोड के निर्माण का प्रस्ताव भेजा था. जिसे मंजूरी मिल गई है. कॉलेज के साथ-साथ हॉस्टल के जीर्णोद्धार के लिए कुल दो करोड़ छप्पन लाख पैंतालीस हजार रुपए की स्वीकृत दी गई है.

हॉस्टल की बदलेगी सूरत

शिक्षा भवन के पास बना राजकीय जुबिली इंटर कॉलेज हॅास्टल जर्जर है. काफी समय से इसकी पुताई भीनहीं हुई. बदहाली में ही यहां छात्र रहने को मजबूर हैं. डीआईओएस ने हॉस्टल के जीर्णोद्धार के लिए भी बजट का प्रस्ताव शासन को भेजा था. उसको भी मंजूरी मिल गई है. सभी निर्माण कार्य यूपी राजकीय निर्माण निगम लि. की ओर से किया जाएगा.

छोटी जुबली में बनेगी बाउंड्री

मूंगफली मंडी स्थित राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में सुरक्षा के लिए बाउंड्री भी नहीं है. अब अब शासन ने कॉलेज के चारो ओर बाउंड्री बनवाने और आरसीसी रोड आदि के लिए बजट दे दिया है. जल्द ही विद्यालय के आधुनिकीकरण का कार्य शुरू किया जाएगा.

शासन ने राजकीय बालिका इंटर कॉलेज और हॉस्टल के जीर्णोद्धार के साथ छोटी जुबिली के आधुनिकीकरण के लिए करीब तीन करोड़ 40 लाख रुपए के बजट की स्वीकृति दी है. कार्यदायी संस्था के माध्यम से जल्द ही निर्माण संबंधी कार्य शुरू कराए जाएंगे.

डॉ. मुकेश कुमार सिंह,

डीआईओएस लखनऊ