- डॉ. संपूर्णानंद सिगरा स्टेडियम में बढ़ने लगी खिलाडि़यों की चहलकदमी

- सुविधाओं पर खर्च होगी शुल्क वृद्धि की कमाई

गर्मी का सीजन आते ही सिगरा स्पो‌र्ट्स स्टेडियम में खिलाडि़यों की चहलकदमी भी बढ़ गई है. अलग-अलग एरिया के खिलाड़ी अल सुबह और शाम यहां खेलते नजर आ रहे हैं. इनकी वजह से स्टेडियम की आमदनी भी बढ़ रही है. जबकि अभी अप्रैल ही चल रहा है. अधिकारियों का कहना है कि मई में यह स्टेडियम खिलाडि़यों से खचाखच बढ़ जाएगा. इसकी वजह अगले माह से स्कूलों में गर्मी की छुट्टी का शुरु होना है. डॉ. संपूर्णानंद स्टेडियम में अलग-अलग खेल में भाग लेने के लिए बच्चे अभी से एप्लीकेशन डाल रहे हैं.

हो जाएंगे एक हजार खिलाड़ी

सिगरा स्थित डॉ. संपूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम में अभी तक अलग-अलग खेलों में कुल 475 प्रशिक्षुओं को इंट्री मिल चुकी है. अगले माह तक यह आंकड़ा एक हजार के पार हो जाएगा. इसके लिए अभी से आवेदन आने शुरू हो गए हैं. छोटे बच्चों में जहां तैराकी व जूडो ताइक्वांडों को लेकर उत्साह है, वहीं बड़े बच्चों में हॉकी, टेबल टेनिस, वालीबॉल, बैडमिंटन व क्रिकेट को लेकर खासा उत्साह देखा जा रहा है. इस माह से खिलाडि़यों के वार्षिक शुल्क में हुई बढ़ोतरी से भले ही स्टेडियम की आमदनी बढ़ गई हो, लेकिन इससे प्रदेश सरकार के राजस्व में कोई इजाफा नहीं होगा. बढ़ी हुई राशि का पैसा शासन को न जाकर सीधे जिला खेलकूद प्रोत्साहन समिति के खाते में जाएगा. जिसकी निगरानी खुद डीएम करेंगे. अधिकरियों की मानें तो शुल्क बढ़ाने का फैसला समिति का है. कई बार ऐसा होता है जब स्टेडियम में किसी असुविधा को दूर करने या किसी खिलाड़ी की मदद करने के लिए शासन स्तर पर पैसा नहीं मिलता है. इसलिए समिति कोष में जमा हुई धनराशि खिलाडि़यों की सुविधाओं और स्टेडियम के रख रखाव पर भी खर्च का निर्णय लिया गया.

शौकिया वालों को देना होगा ज्यादा

हर मौसम में स्टेडियम आने वाले पर्मानेंट प्रशिक्षुओं के वार्षिक शुल्क में जहां 100 से 200 की बढ़ोतरी हुई है. वहीं शौकिया खिलाडि़यों से कई गुना ज्यादा चार्ज वसूला जाता है. तैराकी में भाग लेने वालों को एक हजार रूपए, जबकि बैडमिंटन व अन्य खेलों के लिए 500 रुपए लिया जाता है. इसके अलावा इस मौसम में स्टेडियम में जॉगिंग के लिए 300 रुपए चार्ज है.

एक नजर

475 अलग-अगल खेल के खिलाड़ी जुड़े हैं स्टेडियम से

01 लाख के करीब मिल रही फीस

01 हजार खिलाड़ी हो जाऐंगे अगले माह

02 लाख से ऊपर की हो जाएगी आमदनी

200 रुपए की बढ़ोतरी इनडोर गेम में

100 रूपए की बढ़ोतरी आउटडोर में

यह सही है छुट्टी के सीजन में स्टेडियम में खिलाडि़यों की संख्या बढ़ रही है. रही बात शुल्क बढ़ोतरी की तो इस पैसे से खिलाडि़यों के लिए सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी. इससे शासन के राजस्व पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

एसएस मिश्रा, आरएसओ, सिगरा स्टेडियम