नेशनल हाइवे पर हुए दुल्हन हत्याकांड में चल रहा था वांटेड

दुल्हन हत्याकांड में शामिल रहे हिमांशु व धीरज चौधरी का एसटीएफ पहले ही कर चुकी है एनकाउंटर

Meerut. कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र में क्राइम ब्रांच व कंकरखेड़ा पुलिस की बदमाशों से आमने-सामने की मुठभेड़ हो गई. जिसमें पुलिस की गोली से एक बदमाश घायल हो गया. जबकि उसका दूसरा साथी फरार हो गया. पुलिस ने उसे घायल अवस्था में जिला अस्पताल में भर्ती कराया. एसएसपी राजेश कुमार पांडेय का कहना है कि घायल बदमाश 25 हजारी सूरज है, जो हाईवे के दुल्हन हत्याकांड में वांटेड चल रहा था. इसके दो साथी पहले ही एसटीएफ की मुठभेड़ में मारे जा चुके हैैं.

बदमाशों की घेराबंदी

शुक्रवार देर रात साढ़े नौ बजे करीब क्राइम ब्रांच के प्रभारी एएसपी सतपाल सिंह और कंकरखेड़ा पुलिस को सूचना मिली कि कंकरखेड़ा के बाइपास पर कुछ बदमाश लूटपाट के इरादे से खड़े हुए हैं. जिसके क्राइम ब्रांच व कंकरखेड़ा पुलिस ने बदमाशों की घेराबंदी करनी शुरू कर दी. खुद को घिरा पाकर बदमाशों ने पुलिस पर फायर करना शुरू कर दिए. पुलिस की जवाबी फायरिंग में एक बदमाश के पैर में गोली लग गई. वह लड़खड़ाता हुआ जमीन पर गिर पड़ा. जबकि उसका दूसरा साथी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग खड़ा हुआ. पुलिस ने उसे खून से लथपथ हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया. उसकी पहचान सूरज निवासी देवलोक कालोनी के रूप में की.

दुल्हन हत्याकांड में था वांटेड

गत 27 अप्रैल, 2018 को मुजफ्फरनगर के मिमलाना रोड निवासी शाहवेज पुत्र शमशाद की बारात गाजियाबाद के गांव नाहल में गई थी. उसी रात करीब 11 बजे दूल्हा शाहवेज विदा कराकर दुल्हन कहविश परवीन को कार से लेकर मुजफ्फरनगर लौट रहे थे. दिल्ली-हरिद्वार हाईवे पर गांव मटौर के पास दो कारों से आए बदमाशों ने दुल्हन के गहने उतरवाकर पति और रिश्तेदारों से कैश भी लूट लिया. विरोध करने पर बदमाशों ने पति शाहवेज पर गोली चला दी लेकिन पत्नी कहविश परवीन सामने आ गई. जिससे गोली उसे जा लगी और मौके पर ही उसकी मौत हो गई.

दो बदमाशों का एनकाउंटर

दुल्हन हत्याकांड में फरार चल रहे हिमांशु उर्फ नरसी व धीरज चौधरी का गत 29 मई को एसटीएफ की टीम आमने सामने की मुठभेड़ हो गई थी. जिसमें हिमांशु व धीरज की मौत हो गई थी. जबकि तीसरा साथी सूरज फरार हो गया था.

रडार पर था सूरज

सूरज को गिरफ्तार करने के लिए एसटीएफ काफी दिनों से प्रयास कर रही थी. सूरज पर हत्या व लूट के कई मामले दर्ज हैं. वह नेशनल हाइवे पर लूट की वारदात को गैंग के साथ अंजाम देता था.