-एसटीएफ बनारस यूनिट ने एमपी के दमोह जिले से किया गिरफ्तार, रिश्तेदार के यहां लिए थे शरण

-बैंककर्मी हत्याकांड व गन्ना किसानों के 23 करोड़ हड़पने में थी तलाश

बैंककर्मी हत्याकांड में 25 हजार के इनामी पूर्व सांसद जवाहर लाल जायसवाल को एसटीएफ बनारस यूनिट ने आखिरकार ढूंढ ही निकाला. शनिवार की सुबह एमपी के दमोह जिले से एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया. चंदौली के पूर्व सांसद व सपा नेता जवाहर लाल जायसवाल को दोपहर बाद एसटीएफ ने कैंट पुलिस के हवाले कर दिया. कोर्ट में पेश करने के बाद शाम को उन्हें जिला जेल भेज दिया गया.

बेटे का नहीं है पता

छोटा लालपुर निवासी जवाहर जायसवाल और उनके पुत्र गौरव के खिलाफ छह माह पूर्व कोर्ट ने बैंक कर्मचारी महेश जायसवाल की हुई हत्या के मामले में गैर जमानती वारंट जारी किया था. दोनों पर 23 अप्रैल 2012 की सुबह भोजूबीर से सब्जी खरीद कर अर्दली बाजार अपने घर लौट रहे बैंककर्मी महेश जायसवाल की गोली मारकर हत्या कराने की साजिश रचने का आरोप है. जांच में दोनों का नाम सामने आने पर कोर्ट ने वारंट जारी किया था. फरार पिता-पुत्र पर पुलिस ने 25-25 हजार का इनाम घोषित किया था. जवाहर जायसवाल के खिलाफ महाराजगंज के गन्ना किसानों के 23 करोड़ हड़पने का भी मुकदमा दर्ज है, जिसमें 3 जनवरी को सीजेएम महाराजगंज ने गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था. पुलिस ने दोनों ही मामलों में कई बार छापेमारी की, मगर जवाहर और बेटे गौरव का पता नहीं चल रहा था.

सर्विलांस में मिली थी लोकेशन

एसटीएफ बनारस यूनिट के तेज तर्रार इंस्पेक्टर विपिन राय को भनक लगी थी कि जवाहर लाल जायसवाल एमपी में अपने किसी रिश्तेदार के यहां शरण लिए हुए हैं. मोबाइल के जरिए ट्रेस करना शुरू किया तो लोकेशन एमपी के दमोह कोतवाली एरिया में मिली. इस पर विपिन राय ने वहां छापा मारकर उन्हें हिरासत में ले लिया और बनारस ले आए. पूछताछ के बाद करीब ढाई बजे पूर्व सांसद को कैंट थाने की पुलिस को सुपुर्द कर दिया गया. जहां लिखा पढ़ी के बाद जिला अस्पताल में मेडिकल हुआ और कोर्ट में पेश किया गया, उसके बाद जेल भेज दिया गया.

क्राइम ब्रांच ने की पूछताछ

पूर्व सांसद जवाहर जायसवाल से क्राइम ब्रांच प्रभारी विक्रम सिंह ने कैंट थाने में पूछताछ की. हवालात से निकाल कर एक कमरे में लाने के बाद कुछ देर उनसे महेश जायसवाल की हुई हत्या के बारे में पूछताछ की गई. हालांकि जवाहर ने इस हत्याकांड में भूमिका के होने से इनकार किया.