कब्जे के बाद सिमट गईं पटरियां, सड़क चौड़ी करनी अब मजबूरी

<कब्जे के बाद सिमट गईं पटरियां, सड़क चौड़ी करनी अब मजबूरी

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD:allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: अ‌र्द्धकुंभ के लिए पुराने शहर के साथ ही संगम क्षेत्र की ओर जाने वाली सड़कों को चौड़ा करने व तोड़फोड़ की नोटिस मिलने से दुकानदारों और पब्लिक में हड़कंप है. वहीं दूसरी तरफ सड़कों को चौड़ा करना पीडब्ल्यूडी, एडीए के साथ ही नगर निगम की मजबूरी बन गई है. वजह, चौड़ाई के लिए पूरे यूपी में फेमस इलाहाबाद की सड़कें कहीं डिवाईडर के कारण तो कहीं एन्क्रोचमेंट के कारण संकरी हो गई हैं.

लग जाता है जाम

एक्सीडेंट रोकने और ट्रैफिक मैनेजमेंट के लिए शहर में डिवाइडर का जाल बिछाया गया. लेकिन डिवाइडर ज्यादातर सड़कों पर एक्सीडेंट कंट्रोल के साथ ही जाम का कारण भी बन गया. 50 से 60 फीट चौड़ाई वाली जिस सड़क पर जाम नहीं लगता था, ट्रैफिक स्मूथ चलता था. वहीं अब डिवाइडर बनने से रोड 25-25 या फिर 20-20 फीट के दो हिस्सों में बंट गई है. डिवाइडर बनने के बाद शहर की सड़कें ट्रैफिक लोड नहीं झेल पा रही हैं. ऐसे में जब अ‌र्द्धकुंभ के दौरान लाखों-करोड़ों की भीड़ शहर में आएगी तो ट्रैफिक कैसे कंट्रोल होगा. इसे लेकर हाईकोर्ट ने भी कुछ दिनों पहले सवाल उठाया था. हाईकोर्ट ने कहा था कि डिवाइडर हो या एन्क्रोचमेंट शहर की सड़कें संकरी हो गई हैं. इससे पब्लिक जाम झेलती है. कोर्ट ने इसके लिए जाम का स्थायी हल ढूंढ़ने का आदेश दिया.

वर्जन

सड़कों के चौड़ीकरण का प्लान इसलिए बना है, क्योंकि इनक्रोचमेंट के साथ बढ़ रही ट्रैफिक के कारण शहर की ज्यादातर सड़कें संकरी हो गई हैं. स्थायी सॉल्यूशन के लिए ही सड़कों को चौड़ा किया जाएगा.

पीएन यादव, संयुक्त सचिव, एडीए

सड़क-वर्तमान चौड़ाई-बनने के बाद चौड़ाई (मीटर में)

लीडर रोड- 9-10, 14-15

विवेकानंद मार्ग-06- 08

नुरुल्ला रोड- 05- 09

पुरानी जीटी रोड-11- 14

नवाबयुसुफ रोड 10-14

लल्ला चुंगी रोड 8-9, 10-11

इन सड़कों पर बने हैं डिवाइडर

म्योहाल से फाफामऊ जाने वाली बेली रोड

विवेकानंद चौराहा से एकलव्य चौराहा तक

सीएमपी डॉट पुल से फोर्ट रोड चौराहा तक

बॉक्स

खराब सड़क के चलते गई छात्रा की जान

-मंदरपुर मोड़ के पास तेज रफ्तार टूरिस्ट बस ने पीछे से मारी टक्कर, दो की हालत गंभीर

< अ‌र्द्धकुंभ के लिए पुराने शहर के साथ ही संगम क्षेत्र की ओर जाने वाली सड़कों को चौड़ा करने व तोड़फोड़ की नोटिस मिलने से दुकानदारों और पब्लिक में हड़कंप है. वहीं दूसरी तरफ सड़कों को चौड़ा करना पीडब्ल्यूडी, एडीए के साथ ही नगर निगम की मजबूरी बन गई है. वजह, चौड़ाई के लिए पूरे यूपी में फेमस इलाहाबाद की सड़कें कहीं डिवाईडर के कारण तो कहीं एन्क्रोचमेंट के कारण संकरी हो गई हैं.

लग जाता है जाम

एक्सीडेंट रोकने और ट्रैफिक मैनेजमेंट के लिए शहर में डिवाइडर का जाल बिछाया गया. लेकिन डिवाइडर ज्यादातर सड़कों पर एक्सीडेंट कंट्रोल के साथ ही जाम का कारण भी बन गया. भ्0 से म्0 फीट चौड़ाई वाली जिस सड़क पर जाम नहीं लगता था, ट्रैफिक स्मूथ चलता था. वहीं अब डिवाइडर बनने से रोड ख्भ्-ख्भ् या फिर ख्0-ख्0 फीट के दो हिस्सों में बंट गई है. डिवाइडर बनने के बाद शहर की सड़कें ट्रैफिक लोड नहीं झेल पा रही हैं. ऐसे में जब अ‌र्द्धकुंभ के दौरान लाखों-करोड़ों की भीड़ शहर में आएगी तो ट्रैफिक कैसे कंट्रोल होगा. इसे लेकर हाईकोर्ट ने भी कुछ दिनों पहले सवाल उठाया था. हाईकोर्ट ने कहा था कि डिवाइडर हो या एन्क्रोचमेंट शहर की सड़कें संकरी हो गई हैं. इससे पब्लिक जाम झेलती है. कोर्ट ने इसके लिए जाम का स्थायी हल ढूंढ़ने का आदेश दिया.

वर्जन

सड़कों के चौड़ीकरण का प्लान इसलिए बना है, क्योंकि इनक्रोचमेंट के साथ बढ़ रही ट्रैफिक के कारण शहर की ज्यादातर सड़कें संकरी हो गई हैं. स्थायी सॉल्यूशन के लिए ही सड़कों को चौड़ा किया जाएगा.

पीएन यादव, संयुक्त सचिव, एडीए

सड़क-वर्तमान चौड़ाई-बनने के बाद चौड़ाई (मीटर में)

लीडर रोड- 9-क्0, क्ब्-क्भ्

विवेकानंद मार्ग-0म्- 08

नुरुल्ला रोड- 0भ्- 09

पुरानी जीटी रोड-क्क्- क्ब्

नवाबयुसुफ रोड क्0-क्ब्

लल्ला चुंगी रोड 8-9, क्0-क्क्

इन सड़कों पर बने हैं डिवाइडर

म्योहाल से फाफामऊ जाने वाली बेली रोड

विवेकानंद चौराहा से एकलव्य चौराहा तक

सीएमपी डॉट पुल से फोर्ट रोड चौराहा तक

बॉक्स

खराब सड़क के चलते गई छात्रा की जान

-मंदरपुर मोड़ के पास तेज रफ्तार टूरिस्ट बस ने पीछे से मारी टक्कर, दो की हालत गंभीर

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: शहर में सड़कों की हालत इतनी बदतर है कि आए दिन हादसे हो रहे हैं. रविवार को बेहद खराब सड़क पर तेज रफ्तार टूरिस्ट बस ने मंदर मोड़ के पास एक स्कूटी में टक्कर मार दी. हादसे में एक छात्रा की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि घायल अन्य दो छात्राओं की हालत गंभीर है. घटना की वजह पुलिस खराब सड़क और हाईस्पीड मान रही है.

करती थी तैयारी

आजमगढ़ जिले के मुबारकपुर थाना क्षेत्र स्थित डोलीअइमा गांव के मकसूद किसानी करते हैं. उनकी ख्ख् वर्षीय बेटी नगमा खान पांच बहन व एक भाई में सबसे छोटी थी. नगमा जार्जटाउन थाना क्षेत्र के दरभंगा कॉलोनी स्थित ओझा ग‌र्ल्स हॉस्टल में रहकर कई साल से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही थी. इसी हॉस्टल में जौनपुर के सिकरारा लाला बाजार निवासी रंजना पुत्री जयप्रकाश सिंह व गोरखपुर शहर की ईशा पुत्री राज सिंह भी रह कर तैयारी करती हैं. रविवार सुबह तीनों स्कूटी से पीसीएस की परीक्षा देने जा रही थीं. बमरौली के आगे मंदरमोड़ के पास जैसे ही तीनों पहुंची कि खराब सड़क पर पीछे से तेज रफ्तार आ रही एक टूरिस्ट बस ने उनकी स्कूटी में टक्कर मार दी.

सही होती सड़क तो न मरती नगमा

बमरौली से लेकर मंदरमोड़ तक की सड़क पूरी तरह से उखड़ चुकी है. इस सड़क पर रोजाना तमाम लोग जान हथेली पर रख कर सफर करने को मजबूर हैं. नगमा की मौत की वजह ऊबड़-खाबड़ सड़क बनी. मौके पर मौजूद लोगों का कहना था कि यदि सड़क सही होती तो आज नगमा जिंदा होती.

टक्कर से जैसे ही नगमा गिरी बस उसके ऊपर चढ़ गई. बस सहित चालक को पकड़ लिया गया है. चूंकि परिजन नहीं पहुंच सके थे, इस लिए शव का पोस्मार्टम रविवार को नहीं कराया जा सका.

-नागेश सिंह, एसओ धूमनगंज