JAMSHEDPUR: पुरी के समुद्र में दोस्तों के साथ नहाने के दौरान डूबने से दो छात्रों की मौत हो गई. इनमें एक शहर का और दूसरा दिल्ली का रहनेवाला था. जानकारी के मुताबिक गोलमुरी थाना अंतर्गत मकान संख्या 28 एल-4, अपर सर्कुलर रोड, टिनप्लेट निवासी सुनील पांडेय के पुत्र रजत पांडेय कटक में आर्किटेक्चर की पढ़ाई कर रहा था. रविवार की सुबह दोस्तों के साथ समुद्र में नहाने गया था. इस दौरान यह हादसा हुआ. घटना की जानकारी मिलते ही घर में कोहराम मच गया. मृतक की मां घर के अंदर दहाड़ मार-मार कर रो रहीं थीं. उन्हें किसी तरह पड़ोस व परिजन समझाने की असफल कोशिश कर रहे थे.

आंखों में छलके आंसू

रजत पांडेय की मौत की सूचना जैसे ही उसके बचपन के मित्र डीएवी स्कूल के सहपाठी रहे शिवम पांडेय, रितेश शर्मा तथा रत्‍‌नेश सिंह को हुई, सभी उसके घर पहुंचे. शिवम पांडेय ने बताया कि दोस्तों के बीच रजत सबसे प्यारा था. जुलाई में वह यहां आया था. दो सप्ताह रहने के बाद कहकर गया कि अब दशहरा में आएंगे तब खूब घूमेंगे. यह कहते ही दोस्तों के आंखों में आंसू आ गए. दोस्त रितेश शर्मा ने बताया कि रजत हमेशा होली, दुर्गापूजा व नया साल का जश्न मनाने के लिए जमशेदपुर आ जाता था. हर खुशियां हमसब साथ मिलकर मनाते थे.

परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल

रजत के गोलमुरी स्थित घर में परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. उसके चाचा अजय पांडेय ने बताया कि रजत पांडेय कटक के पीलू मोदी आर्किटेक्चर कॉलेज में चतुर्थ वर्ष का छात्र था. एक वर्ष और पढ़ाई बची हुई थी. अपने माता-पिता का सहारा बनने वाला था, इससे पूर्व ही असमय काल के गाल में समा गया.

मूल रूप से हैं छपरा के रहनेवाले

रजत पांडेय के माता-पिता मूल रूप से छपरा बिहार के रहने वाले हैं. पिता सुनील पांडेय की साकची में दुकान है. कड़ी मेहनत कर वह अपने दो पुत्रों को उच्च शिक्षा दिला रहे थे ताकि वे बुढ़ापे का सहारा बन सकें. चाचा अजय पांडेय ने बताया कि बड़ा पुत्र रजत पांडेय कटक में आर्किटेक्ट की पढ़ाई कर रहा था तो छोटा पुत्र ऋषभ पांडेय आरवीएस इंजीनिय¨रग कॉलेज में पढ़ाई कर रहा है.

आज आएगी बॉडी

रजत पांडेय के पिता सुनील पांडेय, छोटा भाई ऋषभ पांडेय व परिजन कार से पुरी पहुंच चुके हैं. सोमवार को पुरी स्थित पोस्टमार्टम हाउस में कानूनी प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही परिजन शव को लेकर जमशेदपुर के लिए रवाना होंगे.