RANCHI: सदर थाना क्षेत्र के कोकर एसबीआई बैंक के पास रहने वाले संतोष अग्रवाल के 16 साल के बेटे ऋषिराज ने खुदकुशी कर ली. वह सुरेंद्रनाथ स्कूल में दसवीं का छात्र था. परिजनों ने बताया कि 10वीं का रिजल्ट निकला था. उन्हें इसका जरा भी अंदाजा नहीं था कि उनका बेटा कुछ ऐसा कर लेगा. परिजन आनन-फानन में उसे रिम्स ले गए. जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. मामले की जानकारी मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची और शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

क्या है मामला

पुलिस के अनुसार, ऋषिराज का तपोवन गली में रहने वाली एक छात्रा से प्रेम प्रसंग चल रहा था. इसकी भनक छात्रा के पिता लग गई थी. उन्होंने ऋषिराज को बुलाकर छात्रा से दूर रहने की हिदायत दी थी. इसको लेकर वह परेशान रहता था. वहीं, ऋषिराज ने अपने पिता से कार खरीदने को कहा था, जिसे उन्होंने पूरा नहीं किया था. आत्महत्या से पूर्व ऋषिराज प्रतिदिन देर से सो कर सुबह में उठता था. शनिवार की सुबह समय से नहीं उठा, तो पिता ने मोबाइल पर फोन किया. इसके बावजूद कोई जवाब नहीं मिला. फिर रौशनदान से कमरे में झांका, तो देखा कि साड़ी का फंदा बनाकर पंखे के सहारे झूल रहा था. इसके बाद दरवाजा तोड़कर बेटे को निकाला और इलाज के लिए अस्पताल ले गया. जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया.

सोने जा रहा हूं, डिस्टर्ब न करना

पिता संतोष अग्रवाल ने कहा कि रात में खाना खाने के बाद बोला कि पापा मैं सोने जा रहा हूं, मुझे डिस्टर्ब मत कीजिएगा. फिर सुबह जब दोस्तों ने फोन किया और फोन रिसीव नहीं होने पर घरवालों ने दरवाजा तोड़कर देखा तो उसने खुदकुशी कर ली थी. घरवालों का इस हादसे के बाद से रो-रोकर बुरा हाल है.