- कोर्ट जाने की तैयारी में छात्रनेता

- पिछली बार चुनाव लड़ चुके कैंडिडेट ने खरीदा पर्चा

- रिजेक्ट होने की कंडीशन में कोर्ट में होगी अपील

GORAKHPUR: डीडीयू गोरखपुर यूनिवर्सिटी में हो रहे छात्रसंघ चुनाव पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं. यूनिवर्सिटी से राहत न मिलने के बाद छात्रों ने कोर्ट की शरण में जाने का फैसला किया है. सोर्सेज की मानें तो पिछली बार चुनाव लड़ चुके कैंडिडेट्स में से कुछ लोग लगातार वकीलों के संपर्क में हैं. यूनिवर्सिटी के इस रूल को चैलेंज करने के लिए उन्होंने पर्चा भी खरीद लिया है. अगर यूनिवर्सिटी उन्हें चुनाव नहीं लड़ने देती है, तो सीधे कोर्ट की शरण लेंगे, जिसके बाद यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ चुनाव की प्रॉसेस बधित हो सकती है.

एक बार चुनाव लड़ने की कही है बात

गोरखपुर यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ चुनाव के लिए बनी कमेटी ने यह फैसला लिया है कि जो कैंडिडेट्स एक बार चुनाव लड़ चुके हैं, उन्हें दोबारा चुनाव लड़ने का मौका नहीं मिलेगा. इसका कुछ छात्रों ने विरोध किया और उन्होंने यूनिवर्सिटी के आलाधिकारियों से इसको लेकर बातचीत की. छात्रों का कहना था कि लिंगदोह कमेटी की सिफारिशों में कहीं यह मेंशन नहीं है कि सिर्फ एक बार ही चुनाव लड़ा जा सकता है. इसको लेकर छात्र कोर्ट जाने की तैयारी कर चुके हैं और पर्चा खरीदने के बाद इसके खारिज होने का इंतजार कर रहे हैं.