- यूनिवर्सिटी गेट पर लेट कर स्टूडेंट्स ने किया प्रदर्शन

- चुनाव की डेट डिक्लेयर करने की कर रहे हैं मांग

GORAKHPUR: चुनाव की मांग को लेकर यूनिवर्सिटी में हलचल थमने का नाम नहीं ले रही है. गुरुवार वीसी को बंधक बनाने के बाद शुक्रवार को स्टूडेंट्स लीडर्स ने यूनिवर्सिटी गेट पर प्रदर्शन किया. इस दौरान वह गेट के सामने ही लेट गए और चुनाव की डेट डिक्लेयर करने की डिमांड करते रहे. स्टूडेंट्स का कहना था कि यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स से कुछ बात कर रहा है, जबकि कोर्ट में उन्होंने कुछ अलग ही हलफनामा दिया है. यह दोहरी नीति काम नहीं आएगी और स्टूडेंट्स इसका जमकर विरोध करेंगे.

नहीं आया कोई जिम्मेदार

यूनिवर्सिटी गेट पर चुनाव की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट्स करीब दो घंटे तक नारेबाजी कर अपना विरोध जताते रहे. लेकिन इस दौरान यूनिवर्सिटी का कोई भी जिम्मेदार उनसे मिलने के लिए नहीं पहुंचा. जिम्मेदारों की मानें तो यूनिवर्सिटी के खिलाफ स्टूडेंट्स कोर्ट गए हैं, ऐसे में वह यूनिवर्सिटी का खुले तौर पर विरोध कर रहे हैं. मामला कोर्ट में विचाराधीन है और इस संबंध में अब यूनिवर्सिटी कोई फैसला भी नहीं ले सकती है. इसलिए कोर्ट का जैसा निर्देश होगा, वैसी ही कार्रवाई की जाएगी.

पर्चा भरवाया, लेकिन चुनाव नहीं

प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट्स का कहना था कि यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स से हर साल छात्रसंघ चुनाव के लिए पैसे वसूल करता है. वहीं हाल में ही उन्होंने पर्चा भरवा कर भी पैसे वसूल लिए हैं, लेकिन चुनाव कराने की बारी आई है तो वह कोर्ट में उल्टा-सीधा तथ्य पेश कर रहे हैं. वह जानबूझकर चुनाव नहीं कराना चाहते हैं. इस मौके पर राजीव यादव, शिवशंकर गौड़, अन्नू प्रसाद, अनिल दुबे, सुधीर यादव, पवन कुमार, अनूप यादव, सूरज यादव, आलोक सिंह के साथ बड़ी तादाद में छात्र मौजूद रहे.