-जिला समाज कल्याण कार्यालय का छात्रों ने किया घेराव

-एबीवीपी के छात्रनेताओं ने किया विभाग में हंगामा, जमकर नोकझोंक

मेरठ: छात्रों के लगातार हंगामें के बाद शनिवार को समाज कल्याण अधिकारी उमेश द्विवेदी ने मेरठ के सभी शिक्षा संस्थानों को निर्देश दिए कि वे फीस जमा न होने पर छात्रों को परीक्षा में बैठने से न रोकें. हालांकि नियमानुसार जारी इस फरमान में वे छात्र ही शामिल होंगे जो शुल्क प्रतिपूर्ति के पात्र और उनका फार्म कॉलेज द्वारा लाभ के लिए विभाग को भेजा गया है. एबीवीपी के छात्रों ने शनिवार को विभाग में जमकर हंगामा किया.

छात्रों का हाईवोल्टेज हंगामा

एबीवीपी ने शुल्कपूर्ति और छात्रवृत्ति को लेकर समाज कल्याण अधिकारी का घेराव किया. छात्रों ने कहा कि अधिकारियों की लापरवाही के कारण हजारों की शुल्कपूर्ति छात्रवृत्ति नहीं मिली है. ऐसे में उन छात्रों को कॉलेज द्वारा परीक्षा देने से रोका जा रहा है, प्रदर्शनकारियों में अंशुल गुप्ता, उत्तम सैनी, चिराग गुप्ता, राहुल विकल, अनिल तोमर, रोहित आनंद, अंकुर चौधरी, अखिल गोयल आदि मौजूद थे.

डीएम ने लिया संज्ञान

छात्रों के लगातार धरना प्रदर्शन को संज्ञान में लेते हुए डीएम समीर वर्मा ने जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिए कि वे लखनऊ जाकर वेबसाइट को खुलवाने का काम करें. उन्होंने कहा कि शासन स्तर पर जल्द से जल्द छात्रों को छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति का लाभ दिया जाए.

------------------

छात्रों ने चौथे दिन नहीं दी परीक्षा.

मेरठ. सीसीएसयू में प्रतिपूर्ति नहीं मिलने पर छोटूराम इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ रहे छात्र परीक्षा ने चौथे दिन भी परीक्षा नहीं दी. कॉलेज में पढ़ रहे बीटेक, एमसीए व आइबीएस के छात्र स्कॉलरशिप के चक्कर में परीक्षा देने से इंकार कर रहे हैं. गुस्साए छात्रों ने शनिवार को भी वीसी व कॉलेज डायरेक्टर का घेराव किया. इस साल प्रथम, द्वितीय व तृतीय वर्ष के छात्रों की स्कॉलरशिप नहीं आई है. ऐसे में स्कॉलरशिप न मिलने के डर से छात्र परीक्षा में बैठना ही नही चाहते हैं.