कानपुर। एक स्टडी में पाया गया है कि जो लोग आस्था में विश्वास रखते हैं, वे बाकी लोगों की तुलना में अधिक खुश रहते हैं। प्यू रिसर्च फोरम ने हाल ही में दो दर्जन से अधिक देशों से मिले सर्वेक्षण डेटा का विश्लेषण किया ताकि धार्मिक और गैर-धार्मिक लोगों की जीवनशैली की तुलना की जा सके। शोधकर्ताओं ने पाया कि जो लोग धार्मिक हैं, वे अधिक खुश रहते हैं। हालांकि, वे एक्सरसाइज या मोटापे के मामले में स्वस्थ नहीं हैं। एक शोधकर्ता ने कहा कि हालांकि धर्म और स्वास्थ्य के बीच संबंध इतना स्पष्ट नहीं हो सका है लेकिन रिपोर्ट यह जरूर बताती है कि धार्मिक लोग ज्यादा खुश रहते हैं।

तीन अलग अलग कैटगरी में हुई स्टडी

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, स्टडी के दौरान धर्म के प्रति अलग अलग मानसिकता रखने वाले लोगों को तीन हिस्सों बांट दिया गया, पहले कैटगरी में एक्टिव रिलीजियस (धर्म का पालन पूरी तरह से करने वाले) लोगों को रखा गया, दूसरे कैटगरी में 'इनएक्टिव रिलीजियस' (धर्म में विश्वास रखते हैं लेकिन अन्य कामों में ज्यादा ध्यान देने वाले) लोगों को रखा गया और तीसरे कैटगरी में 'धार्मिक रूप से अप्रभावित' (वे लोग जो किसी भी धर्म में विश्वास नहीं रखते हैं) लोगों को रखा गया। सर्वे के दौरान इनएक्टिव रिलीजियस और धार्मिक रूप से अप्रभावित लोगों की तुलना में अमेरिका में एक तिहाई एक्टिव रिलीजियस (36 प्रतिशत) लोगों ने खुद को बहुत खुश बताया। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया में 45 प्रतिशत धार्मिक लोगों ने बताया कि वे खुश हैं, वहीं 32 प्रतिशत इनएक्टिव रिलीजियस और 33 प्रतिशत अप्रभावित लोगों ने वहां खुश होने की बात कही।

कम करते हैं ड्रिंकिंग और स्मोकिंग
शोधकर्ताओं ने कहा कि, 'इस स्टडी से पता चला कि ऐसा कोई देश नहीं है, जहां दूसरों की तुलना में धर्म में विश्वास रखने वाले लोग कम खुश हैं। हालांकि धार्मिक लोग भी स्वस्थ रहने का विकल्प चुन सकते हैं क्योंकि अक्सर रिपोर्ट बताती हैं कि वे गैर-धार्मिक लोगों की तुलना में स्मोकिंग और ड्रिंकिंग कम करते हैं।

इस दिशा में मुंह करके करें पूजा, दूर होगी आर्थिक तंगी

International News inextlive from World News Desk