गोल्ड की हैट्रिक लगाने वाली अनुमिता ने बंया की मेधा की कहानी

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: संस्थान में ओवर ऑल इंस्टीट्यूट गोल्ड मेडल हासिल करने वाली बीटेक, इलेक्ट्रानिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग की अनुमिता खुशियां समेट नहीं पा रही थीं. उन्हें इंस्टीट्यूट गोल्ड मेडल के साथ ही प्रायोजित प्रो. एमआर मुखर्जी मेमोरियल गोल्ड मेडल व विमल चंद्र अग्रवाल गोल्ड मेडल भी मिला. लखनऊ के इंदिरानगर की रहने वाली अनुमिता बंगलुरु स्थित क्वाएलकाम कंपनी में 12 लाख रुपए सालाना की नौकरी कर रही हैं. पिता एके गुप्ता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में सीनियर असिस्टेंट के पद पर कार्यरत हैं. उन्होंने बताया कि अगला लक्ष्य वेरी लार्ज स्केल इंटीग्रेशन में एमटेक करना है. इसके लिए नौकरी के साथ ही तैयारी में भी जुटना है.

मास्टर डिग्री है अगला लक्ष्य

लखनऊ निवासी दीपांकर कुमार सिंह ने बीटेक इंफारमेशन टेक्नोलाजी परीक्षा में टॉप कर गोल्ड मेडल हासिल किया है. संस्थान के जरिए हुए कैम्पस सलेक्शन में उन्हें बंगुलरु स्थित एमेजॉन कंपनी में 29 लाख रुपए सालाना की नौकरी मिली है. सॉफ्टवेयर डेवलपर दीपांकर ने बताया कि दो साल तक इंडिया में नौकरी करनी है. उसके बाद विदेश जाकर इंफारमेशन टेक्नोलाजी में मास्टर डिग्री लेनी है. पिता प्रदीप कुमार सिंह लखनऊ में हार्टीकल्चर विभाग में कार्यरत हैं और मां गृहणी हैं.