वैकल्पिक हेडिंग: पुलिस टॉर्चर के बाद सुसाइड मामले में सीआईडी रेस

-आई फॉलोअप

स्लग: एडीजी अजय कुमार सिंह, एसपी सुनील भास्कर पहुंचे चुटिया थाना, पदाधिकारियों से लिया बयान

-सिटी डीएसपी का भी लिया गया बयान

-एक घंटे तक रुके थे एडीजी थाने में

-सही जवाब नहीं देने पर सब-इंस्पेक्टर को दी सस्पेंड करने की धमकी

ranchi@inext.co.in

RANCHI(4 Aug): कथित आईबी अफसर शिव सरोज कुमार सुसाइड मामले में सिटी डीएसपी और चुटिया इंस्पेक्टर अजय कुमार वर्मा पर प्रताड़ना का आरोप लगने के बाद मुख्यमंत्री रघुवर दास के द्वारा ख्ब् घंटे तक जांच कर रिपोर्ट देने के मामले में सीआईडी रेस हो गई है. शुक्रवार को सीआईडी एडीजी अजय कुमार सिंह, दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के आईजी नवीन कुमार सिंह, सीआईडी एसपी सुनील भास्कर, सीआईडी डीएसपी केके राय चुटिया थाना पहुंचे. एडीजी ने वहां मौजूद सब-इंस्पेक्टर जी राम, मुंशी लोकेश कुमार का बयान लिया. सिटी डीएसपी शंभू कुमार सिंह भी वहां पहुंचे तो एडीजी ने सिटी डीएसपी से भी बयान लिया. सिटी डीएसपी ने कहा कि उस लड़के से केवल पूछताछ की गई थी. इसके बाद सभी को छोड़ दिया गया. एडीजी ने वहां मौजूद सब-इंस्पेक्टर से पूछा कि यदि उसने गलत जानकारी दी तो उसे सस्पेंड कर दिया जाएगा. फिर, सब-इंस्पेक्टर ने कहा कि सुबह आठ बजे तक उनकी ओडी ड्यूटी थी. इस दौरान वह बगल के कमरे में केस डायरी वगैरह निपटा रहे थे. इससे अधिक वे कुछ नहीं जानते. मामले में सीआईडी विभिन्न तथ्यों की जांच कर रही है.

क्या कहते हैं मृतक के पिता

इधर, मृतक के पिता सुरेश कुमार का कहना है कि जब उन्हें इस बात का पता चला कि बेटे के साथ घटना घट गई है तो वे रांची आए तो पता चला कि उनका लड़का मेडिका में भर्ती है. वह अपने बेटे के साथ फ्क् जुलाई को बेटे के साथ आए. वहां मौजूद पुलिस इंस्पेक्टर से पूरी कहानी बताई, इसके बाद पुलिस के द्वारा प्रताडि़त किया जाने लगा. सुरेश कुमार ने कहा कि वह बीसीसीएल से रिटायर्ड है. पुलिस की प्रताड़ना के बाद उसके बेटे ने उसे होटल रेडिएंट में छोड़ दिया और खुद क्ख् सौ रुपए लेकर होटल के बाहर चला गया. बाद में पुलिस की ओर से पूछा जाता है कि बेटा कहां है ? इस पर सुरेश कुमार ने कहा कि उन्हें अपने बेटे के बारे में नहीं मालूम. गुरुवार की सुबह पुलिस ने फोन कर बताया कि उनके बेटे ने सुसाइड कर लिया है.

मेरा बेटा तो चला गया, अब क्या सुनना

शुक्रवार को युवक शिव सरोज कुमार के पिता सुरेश कुमार धनबाद के भूली पहुंचे. शुक्रवार को ही उनके बेटे का अंतिम संस्कार होना था. उस समय सुरेश कुमार ने कहा कि जो होना था हो गया. उसके बेटे की मौत हो गई है. अब सुनने और जानने को शेष क्या रह गया है.