ईद के बहाने अफगान प्रेसीडेंट के घर हमला
अफगानिस्‍तान के फॉर्मर प्रेसीडेंट हामिद करजई के घर पर एक आत्‍मघाती हमलावर ने हमला किया जिसमें राष्‍ट्रपति के भाई की मौत हो गई. यह हमलावर ईद के मौके पर राष्‍ट्रपति के घर आया था और खुद को ब्‍लास्‍ट करके अफगान प्रेसीडेंट के भाई की जान ले ली. कंधार के गर्वनर के प्रवक्‍ता दावा खान मिनापाल ने बताया कि हमलावर मेहमान बनकर हामिद करजई को ईद की बधाई देने के लिए उनके घर गया था.

गले मिलकर उड़ाया हस्‍मत करजई

दावा खान मिनापाल के अनुसार आत्‍मघाती हमलावर ने हामिद करजई के भाई हस्‍मत करजई से ईद के बहाने गले मिलते ही खुद को ब्‍लास्‍ट कर लिया. इस ब्‍लास्‍ट में हस्‍मत करजई की मौत हो गई. गौरतलब है कि हमलावर ने विस्‍फोटक को अपनी पगड़ी में छुपा रखा था. गौरतलब है कि हस्‍मत करजई अशरफ गनी को केंपेन मैनेजर है जो राष्‍ट्रपति पद के लिए खड़े दो केंडीडेट्स में से एक है. अफगानिस्‍तान में इन दोनों उम्‍मीदवारों ने एक दूसरे के ऊपर चुनावों में धांधली के आरोप लगाए हैं.
इस कारण से अफगानिस्तान में अस्थिरता का खतरा उत्पन्न हो गया है.

करजई का पक्ष और हुआ कमजोर

अफगानिस्‍तान के राष्‍ट्रपति हामिद करजई के चुनावों के चलते अपने सगे संबंधियों को लगातार खोना पड़ रहा है. इससे पहले वर्ष 2011 में अफगान प्रेसीडेंट के एक रिश्‍तेदार की कंधार में हत्‍या कर दी गई थी. इसके अलावा कंधार प्रांत के कमेटी चीफ अहमद वलि करजई को भी मौत के घाट उतार दिया गया था. यह हत्‍या चुनावी मकसद से प्रभावित लगती है क्‍योंकि हस्‍मत करजई इससे पहले कय्यूम कय्यूम काजमी के लिए प्रचार का काम कर रहे थे जो राष्ट्रपति के भाई हैं. इसके बाद जब कय्यूम ने अपना नाम वापस ले लिया तो हस्मत ने गनी के प्रचार की कमान संभाली.

International News inextlive from World News Desk