प्रतियोगी छात्र की सुसाइड के बाद जांच में जुटी पुलिस

मोबाइल के कॉल डिटेल के सहारे पुलिस कर रही जांच

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: राजापुर के उंचवागढ़ी मुहल्ले में रहने वाले प्रतियोगी छात्र दीपक द्विवेदी की आत्महत्या के पीछे के कारणों पर से पर्दा उठाने में छात्र का मोबाइल अहम भूमिका निभा सकता है. प्रतियोगी छात्र की मौत के बाद से पुलिस उसके मोबाइल की डिटेल निकलवाने में जुट गई है. खासतौर पर जिस नंबर पर उसने मैसेज किया था, उस नंबर की डिटेल पता करने में पुलिस की टीम जुटी है. छात्र के जिस मोबाइल से लड़की को संदेश भेजा गया है, उसके बारे में फिलहाल सही जानकारी नहीं मिल सकी है.

स्विच ऑफ है मोबाइल

प्रतियोगी छात्र के मोबाइल से मिले नंबर की जांच के दौरान पुलिस ने उस नंबर को ट्रूकॉलर साफ्टवेयर पर सर्च किया तो नाम नहीं मिला. इसके बाद पुलिस ने उक्त नम्बर पर कॉल किया, लेकिन मोबाइल स्विच ऑफ मिला. घरवाले भी उस नंबर के बारे में कुछ नहीं बता पा रहे. पुलिस अशोक द्विवेदी के मकान के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाल रही, लेकिन कुछ खास जानकारी नहीं हो सकी. वहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पुलिस को यह भी पता चला है कि दीपक के सिर में दाहिने तरफ से गोली लगी और बाई तरफ से निकल गई. सिर व हाथ में ब्लैकनिंग मिली है, जो आत्महत्या की तरफ इशारा कर रहे हैं. इंस्पेक्टर कैंट आरएस रावत का कहना है कि पूरे प्रकरण की जांच गंभीरता से की जा रही है. सीडीआर से लड़की के बारे में पता लगाया जा रहा है. तमंचे के बारे में घरवाले फिलहाल कुछ भी नहीं बता पा रहे है. कोरांव में तैनात स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी अशोक द्विवेदी का बड़ा बेटा दीपक गुरुवार को घर में था. उसी समय संदिग्ध परिस्थिति में गोली लगने से उसकी मौत हो गई थी. शुरुआती जांच में पुलिस आत्म हत्या का मामला लेकर जांच में जुटी है. जबकि पिता ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की एफआईआर दर्ज कराया है. पुलिस एफआईआर के बाद दूसरे एंगल पर भी जांच कर रही है.