- बालिका निकेतन में नाबालिग की मौत का मामला

- पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह पता न चलते पर बिसरा जांच के लिए भेजा

- शव लेने नहीं पहुंचे परिजन, मोर्चरी में रखवाया गया शव

देहरादून, बालिका निकेतन में नाबालिग की मौत का राज पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी नहीं खोल पाई। अब मौत का असली कारण जानने के लिए बिसरा जांच के लिए भेजा गया है। वेडनसडे को केदारपुरम स्थित बालिका निकेतन में नाबालिग की डेड बॉडी बाथरूम में मिली थी।

मोर्चरी में रखवाई गई डेड बॉडी

गुरुवार को पुलिस ने नाबालिग के शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए कोरोनेशन हॉस्पिटल भिजवाया। पोस्टमार्टम में भी मौत की असली वजह पता नहीं चल पाई। इसे देखते हुए पुलिस ने बिसरा जांच के लिए भेजा है। पोस्टमार्टम के दौरान नाबालिग का कोई परिजन नहीं पहुंचा इसलिए डेड बॉडी को दून हॉस्पिटल की मोर्चरी में रखवा दिया गया है। पुलिस का कहना है कि डेड बॉडी को 72 घंटे तक मोर्चरी में रखा जाएगा, इस दौरान परिजन आ गए तो बॉडी उनके सुपुर्द कर दी जाएगी। वरना, 72 घंटे बाद अंतिम संस्कार करा दिया जाएगा।

पीएम रिपोर्ट में मौत की असली वजह का पता नहीं चल पाया। बिसरा जांच के लिए भेजा गया है। बॉडी मोर्चरी में रखवाई गई है, परिजनों के आने पर उनके सुपुर्द कर दी जाएगी।

दिलबर सिंह नेगी। प्रभारी। थाना नेहरू कॉलोनी