कानपुर। क्रिकेट में आए दिन नए रिकाॅर्ड बनते और पुराने टूटते हैं। मगर कुछ ऐसे होते हैं जो सालों याद किए जाते हैं। ऐसा ही एक अनोखा कारनामा हुआ था आज से 139 साल पहले। 2 जनवरी 1879 को ऑस्ट्रेलिया बनाम इंग्लैंड के बीच एक टेस्ट मैच खेला गया जिसमें ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज फ्रेडरिक ने लगातार तीन गेंदों में तीन विकेट लेने का कारनामा किया। टेस्ट क्रिकेट इतिहास की यह पहली हैट्रिक थी। ऑस्ट्रेलिया टीम से 18 टेस्ट खेलने वाले फ्रेडरिक ने तीसरा विकेट उस इंग्लिश बल्लेबाज का लिया जिसने इंटरनेशनल क्रिकेट में पहली ही गेंद खेली थी। क्रिकइन्फो पर मौजूद जानकारी के मुताबिक, फ्रेडरिक के बाद टेस्ट क्रिकेट में कुल 41 गेंदबाजों ने हैट्रिक ली है। इसमें दो गेंदबाज भारत के हैं। भारत की तरफ से सबसे पहली टेस्ट हैट्रिक हरभजन सिंह ने 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ली थी। वहीं दूसरी हैट्रिक लेने वाले भारतीय गेंदबाज इरफान पठान थे जिन्होंने यह कारनामा 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ किया था।
2 जनवरी : जानें किसने ली थी टेस्ट में फर्स्ट हैट्रिक और किसने लगाए एक मैच में दो शतक
सबसे ज्यादा बार एक टेस्ट में लगाए गए दो शतक
2 जनवरी 1979 को टेस्ट क्रिकेट में एक और रिकाॅर्ड बना था। इस दिन पूर्व भारतीय बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने टेस्ट क्रिकेट में तीन बार दोनों पारियों में शतक लगाने का कारनामा किया था। दरअसल यह मैच वेस्टइंडीज के खिलाफ कोलकाता में खेला गया था। 29 दिसंबर से शुरु हुए इस मैच में गावस्कर ने पहली पारी में 107 रन बनाए थे। वहीं 2 जनवरी को दूसरी पारी खेलते समय गावस्कर के बल्ले से नाबाद 182 रन निकले। टेस्ट क्रिकेट में यह तीसरा मौका था जब लिटिल मास्टर ने एक टेस्ट की दो पारियों में शतक लगाया। इससे पहले यह कारनामा किसी ने नहीं किया था। हालांकि कई खिलाड़ी हैं जो दो बार यह इतिहास दोहरा चुके। भारत की तरफ से राहुल द्रविड़ ने भी टेस्ट में दो बार दोनों पारियों में सेंचुरी जमाई। वहीं विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे एक-एक बार ऐसा कर चुके हैं।
2 जनवरी : जानें किसने ली थी टेस्ट में फर्स्ट हैट्रिक और किसने लगाए एक मैच में दो शतक


2019 में 16 देशों में खेले जाएंगे 24 वर्ल्ड कप, क्रिकेट विश्व कप में पहली बार होगा ऐसा

नए साल में ऑस्ट्रेलियाई टीम में शामिल हुए विराट कोहली, बनाए गए कप्तान

Cricket News inextlive from Cricket News Desk