कानपुर। भारत और इंग्लैंड के साउथैम्पटन में खेले गए चौथे टेस्ट में टीम इंडिया को 60 रन से करारी हार झेलनी पड़ी। भारत की इस हार की बड़ी वजह खराब बल्लेबाजी रही। चौथी पारी में भारत को जीत के लिए 245 रन चाहिए थे मगर पूरी टीम मिलकर भी इस लक्ष्य को पा न सकी और भारत की पारी 184 रन पर सिमट गई। भारत की इस हार से पूर्व दिग्गज खिलाड़ी सुनील गावस्कर को भी निराशा हुई। मैच के बाद गावस्कर ने कहा, 'जब आप पांच बल्लेबाजों के साथ मैदान में उतरते हैं तो ऐसी स्थिति में किसी एक बल्लेबाज पर निर्भर होना जरूरी हो जाता। विराट कोहली बड़े शतक लगा सकते हैं मगर वह हर मैच में ऐसा करेंगे यह संभव नहीं। वह (विराट) भी एक इंसान हैं। कोहली-रहाणे के बीच शतकीय साझेदारी के टूटने के बाद बाकी के बल्लेबाज 60-70 रन भी नहीं बना पाए, यह काफी निराशाजनक है।'
पांड्या पर भड़के गावस्कर,लोग कहते होंगे उसे ऑलराउंडर लेकिन मैं नहीं मानता
भारतीय बल्लेबाजों की गलतियां आईं सामने

मौजूदा टेस्ट में सीरीज में भारतीय बल्लेबाजों की कमजोरी साफ नजर आई। कुछ भारतीय बल्लेबाजों को छोड़ दें तो सभी फ्लॉप रहे। विराट कोहली जहां सीरीज में 544 रन के साथ लीडिंग स्कोरर हैं वहीं पुजारा और रहाणे ही दूसरे बल्लेबाज हैं जिन्होंने 200 से ज्यादा रन बनाए। गावस्कर मानते हैं कि इंग्लैंड ने भारत की इस कमजोरी का फायदा उठाया और उन्हें जल्दी आउट करके भारत पर दबाव बनाया। साउथैम्प्टन में भी उनकी यह स्ट्रेटजी काम आई और भारत ने सिर्फ मैच नहीं सीरीज भी गंवाई। भारत के दिग्गज खिलाड़ी गावस्कर ने आगे यह भी कहा, 'यहां साउथैम्पटन में भारत की गलतियां सामने दिखीं। इससे पहले एजबेस्टन और लॉर्ड्स में गेंद स्विंग कर रही थी जिससे बल्लेबाजी में थोड़ी दिक्कत आ रही थी। मगर यहां बल्लेबाज रन क्यों नहीं बना पाए यह सोचने का विषय है।'

पांड्या को नहीं मानता ऑलराउंडर
चौथे टेस्ट की पहली पारी में जीरो और दूसरी पारी में चार रन बनाने वाले हार्दिक पांड्या ने गावस्कर को काफी निराश किया। पांड्या बड़े मैचों में अभी भी परफॉर्म नहीं कर पा रहे। लिटिल मास्टर कहते हैं, 'क्या आप हार्दिक पांड्या को ऑलराउंडर बुलाते हैं? बाकी लोग उन्हें ऑलराउंडर समझते होंगे लेकिन मैं नहीं मानता।'

विराट के अलावा इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज हारने वाले ये हैं 11 भारतीय कप्तान

Cricket News inextlive from Cricket News Desk