सुरेश प्रभु ने पूरे मामले की जांच के आदेश जारी कर दिए
LUCKNOW (lucknow@inext.co.in)। इंडिगो की ओर से कहा गया है कि गर्मी के मौसम में कुछ स्टेशंस में मच्छरों की समस्या सामने आती है। हमारी ओर से बोर्डिंग से पहले एयरक्रॉफ्ट के अंदर छिड़काव करवाया जाता है। इसके साथ ही एयरक्रॉफ्ट सीट्स के नीचे मॉस्किटो रिपैलेंट पैचेस भी लगाए जाते हैं। यह भी बताया गया कि डॉ.सौरभ की शिकायत पर उन्हें एयरक्रॉफ्ट इंसेक्टिसाइड के दो खाली केन भी दिखाए गए थे। इसके बावजूद डॉ. सौरभ संतुष्ट नहीं दिखे और मिसबिहेव करना शुरू कर दिया। अन्य यात्रियों ने फ्लाइट की देरी को लेकर सवाल उठाने शुरू कर दिए। जबकि डॉक्‍टरसौरभ लगातार कहते रहे कि फ्लाइट टेकऑफ न हो। जब वह शांत नहीं हुए, तब सीआईएसएफ की क्विक रिस्पांस टीम को बुलाया गया। उनके सामने भी पूरा मामला रखा गया। फ्लाइट के टेक ऑफ न होने से दूसरे यात्रियों को हो रही समस्या तथा डॉक्‍टर सौरभ के व्यवहार को देखते हुए उन्हें फ्लाइट से उतारने का फैसला लिया गया। बतादें क‍ि पूरा मामला संज्ञान में आने के बाद उड्डन मंत्री सुरेश प्रभु ने पूरे मामले की जांच के आदेश जारी कर दिए हैं। जिससे साफ है कि अब एयरलाइंस की मुश्किलें बढऩी तय हैं।

फ्लाइट में सवार अन्य पैसेंजर्स भी इसी समस्या से परेशान थे
बंगलुरु के नारायणा हृदयालय में वैस्कुलर सर्जन डॉक्‍टर सौरभ राय ने सोमवार को चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट लखनऊ से बंगलुरु जाने के लिए इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट संख्या 6ई 541 में टिकट लिया था। डॉक्‍टर सौरभ के अनुसार, जब वह फ्लाइट के अंदर गए तो वहां मच्छरों की संख्या बहुत थी। फ्लाइट में सवार अन्य पैसेंजर्स भी इसी समस्या से परेशान थे। इस पर उन्होंने कई पैसेंजर के साथ क्रू मेंबर्स से फ्लाइट में मच्छर होने की शिकायत दर्ज कराई थी। डॉक्‍टर सौरभ का आरोप था कि पहले तो क्रू मेंबर्स ने ध्यान नहीं दिया लेकिन जब उन्होंने ज्यादा प्रेशर दिया तो क्रू मेंबर्स ने बदसलूकी शुरू कर दी। इसके बाद क्रू मेंबर्स ने ग्राउंड फोर्स सिक्योरिटी को बुलाकर उन्हें सामान सहित फ्लाइट से नीचे उतार दिया था। इसके बाद डॉक्‍टर सौरभ ने दोपहर 12.35 बजे की फ्लाइट से 16 हजार का दूसरा टिकट बुक कराया और मंजिल के लिए उड़ान भरी। बतादें क‍ि डॉक्‍टर सौरभ राय मूलत: इलाहाबाद के रहने वाले हैं और गैस्ट्रोसर्जन हैं। वह 20 साल से इंग्लैंड में थे और 2015 से नारायणा हृदयालय में हैं। अभी हाल ही में उन्होंने नि:शुल्क हमीरपुर में मरीजों के लिए कैंप लगाया था।
 
दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने गंभीरता से उठाया इस मामले को
इंडिगो एयरलाइंस के क्रू मेंबर्स की अभद्रता का शिकार हुए सर्जन डॉक्‍टर सौरभ राय के साथ दैनिक जागरण आई नेक्स्ट हर पल उनके साथ खड़ा रहा। दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने उनकी समस्या को न सिर्फ ट्वीट किया बल्कि प्रमुखता से समाचार भी प्रकाशित किया। जिसका सीधा असर यह हुआ कि उड्डन मंत्री सुरेश प्रभु को खुद आगे आना पड़ा और पूरे मामले की जांच के आदेश देने पड़े। कुल मिलाकर 29 घंटे 25 मिनट के बाद डॉक्‍टर सौरभ को न्याय मिलने का रास्ता साफ हो गया है।
 
डॉक्‍टर सौरभ के संर्घष का सफर

4.35 सुबह सोमवार डॉक्‍टर सौरभ लखनऊ एयरपोर्ट पहुंचे
6.05 पर इंडिगो एयरलाइन नंबर 6ई-541 से जाना था
5.30 बजे फ्लाइट के अंदर अभद्रता शुरू हुई
8.00 बजे डॉक्‍टर सौरभ ने दैनिक जागरण आईनेक्स्ट टीम से किया संपर्क
9.00 बजे-डॉक्‍टर सौरभ ने दैनिक जागरण आईनेक्स्ट से वीडियो के माध्यम से अपनी परेशानी बयां की
10.50 पर दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने मामले को लेकर ट्वीट किया
12.30 बजे इंडिगो एयरलाइंस की दूसरी फ्लाइट से रवाना हुए
मंगलवार दोपहर 1.25 पर उड्डन मंत्री प्रभु ने किया जांच संबंधी ट्वीट
एयरपोर्ट पर ही रह गया पूर्व नागरिक उड्डयन मंत्री का सामान और प्‍लेन ने भर दी उड़ान

प्‍लेन में मच्‍छर होने की शिकायत पर इंडिगो ने डॉक्‍टर को नीचे उतारा

National News inextlive from India News Desk