-विधानसभा चुनावों का सपना देखने वाली आप प्रदेश इकाई में जारी घमासान

-छह नेताओं को पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए पार्टी से किया निष्कासित

DEHRADUN: आम आदमी पार्टी ने पार्टी विरोधी गतिविधियों को लेकर कई नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया है. आरोप हैं कि इन नेताओं ने सार्वजनिक तौर पर पार्टी के विरोध में बयानबाजियां की हैं. बाहर किए गए नेताओं में प्रमुख रूप से ओंकार भाटिया, कमल देवराड़ी, भास्कर चुग, मनोज द्विवेदी, गिरीश मलकानी व समीर मुंडेपी श्ामिल हैं.

अभी और भी लाइन में

अरविंद केजरीवाल की पार्टी उत्तराखंड में भी आने वाले विधानसभा चुनाव में अपनी जमीन तलाश रही है. लेकिन पिछले कई दिनों से पार्टी में घमासान मचा हुआ है. प्रदेश कार्य समिति के अध्यक्ष अनूप नौटियाल सहित कई नेताओं ने प्रदेश प्रभारी पर आरोप लगाते हुए पिछले दिनों अपने पदों से इस्तीफा दिया. लेकिन उल्टे पार्टी ने इन नेताओं को ही पार्टी विरोधी गतिविधियों के एवज में अब बाहर का रास्ता दिखा दिया है. प्रदेश मीडिया संयोजक सरोज पांडे ने बताया कि प्रदेश कार्य समिति के सदस्य व प्रदेश प्रवक्ता मुकेश अग्रवाल के अनुसार छह पार्टी नेताओं को पार्टी से निष्कासित किया गया है. इन नेताओं पर पार्टी में अनुशासनहीनता की शिकायत सामने आई. जिस पर पार्टी हाईकमान ने सख्त रवैया अपनाते हुए उन पर कार्रवाई की है. मुकेश अग्रवाल के मुताबिक अभी और भी कार्यकर्ताओं द्वारा की जा रही बयानबाजियों पर अनुशासन समिति विचार कर रही है. जिस पर जल्द निर्णय ले लिया जाएगा. हालांकि निष्कासित नेताओं में अभी तक पूर्व प्रदेश कार्यसमिति के अध्यक्ष अनूप नौटियाल का नाम सामने नहीं आया है.

बॉक्स

आप को उत्तराखंड में खत्म करने की साजिश

-पार्टी को नुकसान पहुंचाने वालों की असलीयत लाएंगे सामने

DEHRADUN: निष्कासित पार्टी नेताओं ने अपने निष्कासन को सिरे से खारिज कर दिया है. साफ कहा है कि उनका निष्कासन संवैधानिक नहीं है. यह निर्णय आम आदमी पार्टी का नहीं, बल्कि प्रदेश सह प्रभारी विवेक यादव का है.

निष्कासन का अिधकार नहीं किसी को

पार्टी से निष्कासन की खबर लगते ही आम आदमी पार्टी के नेताओं ने सख्त विरोध किया है. अपने बयान में इन नेताओं ने कहा कि जिन छह नेताओं को बाहर करने की बात कही जा रही है, प्रदेश सह प्रभारी विवेक यादव खुद को मुख्यमंत्री हरीश रावत से ज्यादा प्रभावी समझ रहे हैं. कमल देवराड़ी ने आरोप लगाए कि प्रदेश सह प्रभारी विवेक यादव पार्टी में यादवगिरी चला रहे हैं. आप के नेताओं के निष्कासन का निर्णय सरासर दुराग्रह से ग्रसित है. बिना किसी कारण बताओ नोटिस व सुनवाई के किसी का भी निष्कासन नहीं किया जा सकता है. जबकि आप पार्टी को हर कार्यकर्ता राज्य में मजबूत करने पर जुटे हुए हैं. लेकिन विवेक यादव पार्टी को खत्म करने पर तुले हुए हैं. कमल देवराड़ी ने साफ कहा कि आप पार्टी को जो लोग नुकसान पहुंचाने पर जुटे हुए हैं, सबूतों के साथ उसका खुलासा किया जाएगा.

:::दूसरी खबर::::::(>ÙæðÅUÑ-§â×ð´ ȤæðÅUæð»ýæȤ ãUñ´)

ngend>

¥æ ÙðÌæ¥æð´ Ùð ‰ææ×æ ·¤æ¢»ýðâ ·¤æ Îæ×Ù

ÂæÅUèü ×ð´ ׿ð ƒæ×æâæÙ ·ð¤ Õè¿ ¥æ× ¥æÎ×è ÂæÅUèü ·ð¤ ·¤§ü ÙðÌæ¥æð´ ß ·¤æØü·¤Ìæü¥æð´ Ùð ÚçßßæÚ ·¤æ𠷤梻ýðâ ·¤æ Îæ×Ù ‰ææ×æ. ÂýÎðàæ ×éØæÜØ ×ð´ §â ×æñ·ð¤ ÂÚ ÂýÎðàæ ¥ŠØÿæ ç·¤àææðÚ ©UÂæŠØæØ Ùð Sßæ»Ì ·¤ÚÌð ãUé° ·¤ãUæ ç·¤ ·¤æ¢»ýðâ âæè Šæ×æðZ, ß»æðZ, â¢ÂýÎæØæð´ ß ÁæçÌØæð´ ·¤æ â×æÙ ·¤ÚÌè ãUñ. ¥æ× ¥æÎ×è ÂæÅUèü ·ð¤ Šæ×üÂéÚ çߊææÙâææ ÂýææÚUè Âýð× çâ¢ãU æ¢ÇUæÚUè ·ð¤ ÙðÌëˆß ×ð´ ÚæØÂéÚ çß·¤æ⠁æ¢ÇU ·ð¤ â¢ØæðÁ·¤ ×¢ÁèÌ ·ñ´¤ÌéÚæ âçãUÌ çßÙæðÎ ÚæØ, ÂýÎè ÚæØ, ÚæÁð´¼ý ÂýâæÎ ×ñ´ÎéÜæ, æè× çâ¢ãU ØæÎß, ÚæÁ·é¤×æÚ »éŒÌæ, ¥çæcæð·¤ ÂÚ×æÚ, ×ÙæðÁ ŠæS×æÙæ, ÙßèÙ Áæðàæè, ÙæçÁÚ ææÙ, ¥ŽÕæâ ¥Üè, âéàæèÜ Õ‚»æ ß çÎÙðàæ âçãUÌ ÎÁüÙæð´ ·¤æØü·¤Ìæü àææç×Ü ÚãUð. §â ÎæñÚæÙ ×éØ ÂýßQ¤æ °×ÇUè Áæðàæè, çàæËÂè ¥ÚæðÇUæ, ×ÎÙ ÜæÜ, ÚæÁð´¼ý àææãU, Âë‰ßèÚæÁ ¿æñãUæÙ ¥æçÎ ×æñÁêÎ ÚãUð.