prayagraj@inext.co.in
PRAYAGRAJ: जिले की दोनों लोकसभा सीटों पर चुनाव जीतने वाले प्रत्याशी को इस बार रिजल्ट के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है। आयोग ने रिजल्ट घोषित करने के सिस्टम में बड़ा बदलाव किया है। पहले शाम होते-होते रिजल्ट सामने आ जाता था। लेकिन अब सुविधा एप पर आंकड़े अपलोड करने के बाद ही प्रत्याशी को प्रमाण पत्र और नाम का ऑफिशियल ऐलान किया जाएगा।

एक चरण पूरा तभी शुरू होगा दूसरा
इसके पहले विधानसभाओं में एक चरण की गणना पूरी हो जाने के बाद दूसरे की शुरआत होती थी लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। जब तक सभी विधानसभाओं की गणना का एक चरण पूरा नहीं हो जाएगा, कहीं भी दूसरे चरण मतगणना शुरू नहीं होगी। इसके लिए आयोग द्वारा आरओ और एआरओ को राउंरवार मतों का आंकड़ा एप पर अपलोड करने के लिए अलग से पासवर्ड दिया जा रहा है। बता दें कि जिले में फूलपुर और लोकसभा दो सीटों का अंतिम रुझान मिलने में देर शाम और ऑफिशियल रिजल्ट घोषित होने में रात हो सकती है। आम जनता अयाोग के टोलफ्री नंबर 1950 पर कॉल कर मतगणना की अपडेट प्राप्त कर सकती है।

गोपनीयता भंग की तो खैर नहीं
मतगणना के दिन काउंटिंग में लगे प्रत्याशी के एजेंटों द्वारा गोपनीयता भंग करना भारी पड़ सकता है। अगर ऐसा करते पाया गया तो एजेंट की अनुमति को निरस्त करने बाद बाकी मतगणना को प्रत्याशी के एजेंट की अनुपस्थिति में कराया जाएगा। इसके अलावा उसके खिलाफ नियमों के तहत वैधानिक कार्रवाई भी कराई जाएगी। अधिकारियों का कहना है कि एजेंट द्वारा बार-बार काउंटिंग रूम से अंदर-बाहर करने पर नजर रखी जाएगी। अगर उसके आचरण में कोई कमी पाई गई तो पहले चेतावनी दी जाएगी। फिर भी सुधार नहीं हुआ तो एजेंट की अनुमति निरस्त कर बाहर कर दिया जाएगा।

प्रत्येक विधानसभा में लगी 14-14 टेबल
दो लोकसभा सीटों की दस विधानसभाओं में प्रत्येक विधानसभा में 14-14 टेबल लगाई गई है। इनमें राउंडवार मतगणना कराई जाएगी। 23 मई को मुंडेरा मंडी स्थित मतगणना स्थल पर दोनों सीटों के मतों की गिनती होगी। नियमों के मुताबिक प्रत्येक चरण का विधानसभावार डाटा सुविधा एप पर लोड किया जाएगा। मतगणना की सभी डिटेल इस एप उपलब्ध होगी। बीस मई को बैलेट पोस्टल मतों की गिनती का द्वितीय प्रशिक्षण निर्धारित किया गया है।

इस बार सुविधा एप पर चरणवार काउंटिंग के आंकड़े अपलोड किए जाने हैं। इसकी तैयारी शुरू हो गई है। इसके चलते परिणाम आने में थोड़ी देर हो सकती है। उम्मीद है कि जल्द से जल्द परिणाम घोषित कर दिया जाए।

-केके बाजपेई, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी