ranchi@inext.co.in
RANCHI : आज शनिवार को मुख्यमंत्री रघुवर दास संध्या चार बजे बड़ा तालाब के बीच (मध्य) स्थापित की गई स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा (33 फीट ऊंची) का अनावरण व सुंदरीकरण का उद्घाटन करेंगे। मौके पर झारखंड राज्य भवन निर्माण विभाग की वेबसाइट का उद्घाटन व कॉफी टेबुल बुक का विमोचन भी होगा। मूर्ति अनावरण कार्यक्रम से पूर्व रामकृष्ण मिशन की ओर से पूजा-पाठ व शंखनाद किया जाएगा। इस मौके पर बेलूर मठ हावड़ा के सह महासचिव स्वामी बोधसारानंद भी उपस्थित रहेंगे। उसके बाद योग कार्यक्रम का भी आयोजन होगा। कार्यक्रम की तैयारी के तहत पैडेस्ट्रियन ब्रिज से मूर्ति स्थल तक लाइट्स भी लगाए जाएंगे। जबकि आइलैंड नंबर-1 स्थित विशालकाय पेड़ के ड्डपर रंगीन लाइट लगाई जाएगी। बड़ा तालाब के पानी की सतह से मूर्ति की ऊंचाई 53 फीट है।

swami vivekananda jayanti 2019: यहां लगी देश में सबसे ऊंची स्वामीजी की प्रतिमा

देश की सबसे ऊंची स्वामीजी की प्रतिमा पर एक नजर
- 12 जनवरी 2016 को सीएम रघुवर दास ने किया था इस योजना का शिलान्यास
- 12 जनवरी 2018 को ठीक दो वर्ष बाद स्वामी विवेकानंद की मूर्ति का होगा अनावरण
- मूर्ति को तालाब के तीन ओर से देखने की होगी व्यवस्था।
- ब्रिज के नीचे बोट से जाने की होगी व्यवस्था।
- पैडेस्ट्रियन ब्रिज पर सोलर लाइट की भी व्यवस्था होगी
- स्टेच्यू के इर्द-गिर्द लगाई जाएंगी स्पॉट लाइट्स।
- पैडेस्ट्रियन ब्रिज के नीचे लगाई जाएंगी फ्लड लाइट्स।
- आइलैंड नंबर-1 और 2 को जोड़ने के लिए 155 मीटर लंबे स्टील पैडेस्ट्रियन ब्रिज का निर्माण।
- आइलैंड के इर्द-गिर्द एलइडी लाइट से सजे पांच फाउंटेन का होगा निर्माण।
- आइलैंड नंबर-1 से आइलैंड नंबर-2 तक जाने के लिए पैडेस्ट्रियन ब्रिज पर एलईडी लाइट्स भी लगाए जाएंगे।
- 13 करोड़ है योजना की लागत
- आइलैंड नंबर-2 से आसपास के नजारा को देखने के लिए बेंच की होगी व्यवस्था।
- 200 मीटर आइलैंड-1 से आइलैंड-2 तक पैडेस्ट्रियन ब्रिज की लंबाई
- 44 पीलर की संख्या है आइलैंड-1 में
- 52 पीलर की संख्या है आइलैंड-2 में
- 53 फीट है बड़ा तालाब के पानी की सतह से मूर्ति की ऊंचाई।


swami vivekananda jayanti 2019: यहां लगी देश में सबसे ऊंची स्वामीजी की प्रतिमा

सचिव ने लिया जायजा
शुक्रवार की शाम भवन निर्माण विभाग के सचिव सुनील कुमार ने कार्यक्रम स्थल व स्वामी विवेकानंद की स्थापित मूर्ति व पैडेस्ट्रियन ब्रिज (पहुंच पथ) का निरीक्षण किया। अधिकारियों ने कंपनी को निर्देश दिया कि कार्यक्रम स्थल पर मंच का डेकोरेशन अच्छी तरह कराएं।

मूर्ति देखने पहुंचा हुजूम
स्वामी विवेकानंद की आदमकद मूर्ति देखने के लिए स्कूल-कॉलेज के छात्र समेत स्थानीय लोग शनिवार को पैडेस्ट्रियन ब्रिज से मूर्ति स्थल तक पहुंच गए। भीड़ देख कंपनी के अधिकारी भी चिंतित हो उठे। पैडेस्ट्रियन ब्रिज के दोनों किनारे रेलिंग नहीं होने के कारण उन्होंने लोगों को बाहर कराया।

राष्‍ट्रीय युवा दिवस : नजर ही नहीं ध्‍यान भी हो लक्ष्‍य पर, सफलता के लिए पढ़ें स्वामी विवेकानंद के ये 3 किस्से

National News inextlive from India News Desk