-प्रशासन ने इसके लिए शिक्षा विभाग से की बात, रसोइया की रहेगी सेंटर पर ड्यूटी

-जहां पर रसोइया नहीं है तैनात वहां पर किया जाएगा इंतजाम, ताकि न हो परेशानी

23 अप्रैल को होना है मतदान

22 अप्रैल को पोलिंग सेंटर पर पहुंचेंगी पोलिंग पार्टी

916 पोलिंग स्टेशन बरेली लोकसभा क्षेत्र में

बरेली:

चुनाव ड्यूटी में मतदान कर्मियों को अब खाने के लिए इधर-उधर भटकना नहीं होगा। प्रशासन ने इसके लिए पोलिंग बूथ पर ही नाश्ता के साथ खाने की भी व्यवस्था की है। हालांकि इसके लिए मतदान कर्मियों को भुगतान पहले अपनी जेब से करना होगा, बाद में इसका भुगतान आयोग से उनके लिए मिल जाएगा। इस व्यवस्था के तहत पोलिंग बूथ पर रसोइया मौजूद रहेगी, जो उन्हें मन पंसद खाना खिलाएगी। इसके लिए प्रशासन की तरफ से शिक्षा विभाग को एक पत्र भी जारी कर दिया गया है।

सेंटिंग का नहीं लगेगा आरोप

ज्ञात हो अभी तक पोलिंग बूथ पर ड्यूटी करने वाले मतदान कर्मियों को खाने की व्यवस्था प्रशासन की तरफ से नहीं हो पाती थी। उन्हें खाने के बाद में पैसे मिलते थे। खाने की व्यवस्था नहीं हो पाने से कई बार तो मतदान कर्मियों को ग्राम प्रधान या पार्षद खाने की व्यवस्था करा देते लेकिन ऐसे में सेटिंग का भी आरोप लगता था। इन आरोपों और खाना की समस्या को देखते हुए प्रशासन ने इस बार सेंटर पर ही इंतजाम करने की योजना बनाई है। इसके तहत अब सेंटर पर ही मनपंसद खाना तो मिलेगा ही और कोई आरोप भी नहीं लगा सकेगा।

----------

देर सवेर भी मिलेगा खाना

-देर सवेर मतदान केन्द्र पर पहुंचने पर मतदान कर्मियों को खाने के लिए किसी का मुंह नहीं ताकना होगा। वह रसोइया से अपने सेंटर पर ही खाना बनवा सकेंगे और उन्हें खाने के लिए बेवजह की भागदौड़ नहीं करनी होगी

खाने के रेट भी तय

भोजन बनवाने पर मतदान कर्मियों को 50-60 रुपए

मतदान कर्मियों को नाश्ता के लिए 10 रुपए चुकाने होंगे

----

ड्यूटी पर रहेंगी रसोइया

मतदान के दिन स्कूलों की छुट्टी रहेगी, लेकिन रसोइए की छुटटी नहीं रहेगी। इसके लिए रसोइया को अपने ही सेंटर पर ड्यूटी के लिए जाना होगा। वहां पर जो भी पोलिंग पार्टी आएगी उन्हें उनके मुताबिक खाना बनाकर देना होगा। बीएसए ने बताया कि सभी रसोइयो को इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिया है।

यह है मैन्यू

-नाश्ते में मतदान कर्मियों को चाय बिस्किट मिलेगा।

-खाने में दाल, सब्जी, चावल, रोटी या पूड़ी-सब्जी।

==========

सत्येन्द्र कुमार सिंह, सीडीओ बरेली