JAMSHEDPUR: मध्यम व भारी वाहनों के निर्माण में अग्रणी टाटा मोटर्स की जमशेदपुर इकाई में अगस्त में कुल 8,000 वाहन बनाने का लक्ष्य है. 7 अगस्त तक 1,500 से ज्यादा गाडि़यों का निर्माण कर लिया गया है. जुलाई में 7,500 वाहन जबकि जून में कुल दस हजार वाहन का उत्पादन हुआ था. टाटा मोटर्स में प्रतिदिन जहां 400 से ज्यादा वाहन बनते थे. जो घटकर 300 से भी कम हो गये हैं. बरसात में गाडि़यों की मांग में कमी के कारण ऐसा होता है. सोमवार को टीटीसीए द्वारा कुल 250 चेसिसों की बुकिंग की गयी. आमतौर पर चेसिसों की बुकिंग तीन सौ होती है.

बैठाए गए अस्थायी कर्मी

वाहनों की मांग में कमी के कारण उत्पादन में आयी गिरावट से अस्थायी कर्मियों को काम से बैठाने का सिलसिला शुरू है. टाटा मोटर्स के प्लांट वन, व‌र्ल्ड ट्रक आदि डिवीजन के बाई सिक्स कर्मियों को बैठाया गया जबकि प्लांट थ्री के एलपी लाइन, फिटमेंट, फेब्रिकेशन समेत अन्य विभागों में भी कर्मियों को बैठाया गया है. इनकी वापसी रोटेशन के आधार होगी. बारिश की वजह से भारी वाहनों के आवागमन में भी परेशानी हो रही है. रॉ- मैटेरियल्स की कमी से भी उत्पादन कम हो रहा है. कंपनी के प्लांट वन व व‌र्ल्ड ट्रक में सिर्फ एक पाली में काम हो रहा है.