ष्द्धड्डद्मह्मड्डस्त्रद्धड्डह्मश्चह्वह्म : ट्रेन नंबर 22886 अप टाटानगर सीएसटीएम मुंबई अंत्योदय एक्सप्रेस दुर्घटना होने से बाल बाल बच गई. समय रहते कैरेज एंड वैगन शॉप के कर्मचारियों ने अंत्योदय एक्सप्रेस के एक कोच में आई खराबी को देख लिया और चक्रधरपुर रेलवे स्टेशन में एक घंटे तक अंत्योदय एक्सप्रेस को रोक कर अंत्योदय एक्सप्रेस के एक जनरल कोच नंबर एसईआर 168416 को ट्रेन से अलग कर यार्ड में मरम्मत करने के लिए रखा है. यह घटना गुरूवार की देर रात 11:18 बजे की है. जिस कोच को ट्रेन से अलग किया गया. उस कोच के यात्रियों को दूसरे कोच में भेजा गया तदुपरांत ट्रेन को रात 12 :18 बजे सीएसटीएम मुंबई के लिए रवाना किया गया. ज्ञात हो अंत्योदय एक्सप्रेस का चक्रधरपुर पहुंचने का निर्धारित समय सुबह 10:50 बजे है.

क्या है मामला

टाटानगर से सीएसटीएम मुंबई की ओर जाने वाली अंत्योदय एक्सप्रेस गुरूवार की रात को चक्रधरपुर स्टेशन पहुंचने वाली थी. कैरजे एंड वैगन शॉप के कर्मचारियों को अंत्योदय एक्सप्रेस आने की सूचना मिली थी. लोको कैबिन के समीप कैरेज एंड वैगन के कर्मचारी लाईन नंबर एक में आ रही अंत्योदय एक्सप्रेस की चक्कों की जांच लाईट जला कर कर रहें थे. इस बीच अंत्योदय एक्सप्रेस के एक कोच के पहिए चलते हुए कांप रहें थे. यह देख कैरेज एंड वैगन शॉप के कर्मचारियों ने इसकी अपने अधिकारियों और स्टेशन मास्टर को दिया. चक्रधरपुर स्टेशन में रूकी अंत्योदय एक्सप्रेस के कोच के पहियों की फिर से जांच की गई. उसके बाद अंत्योदय एक्सप्रेस के एक जनरल कोच को ट्रेन से काट कर अलग कर दिया गया.

100 किमी प्रति घंटे की थी रफ्तार

100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफतार से चलने वाली अंत्योदय एक्सप्रेस के एक कोच के पहिए जिस तरह से कांप कर चल रहें थे. उससे कभी भी अंत्योदय एक्सप्रेस के डिब्बे रेल पटरी से उतर जाता. जिससे एक बड़ा रेल हादसा घट सकता था. च्ह तो अच्छा था कि कैरेज एंड वैगन शॉप के कर्मचारियों ने अपनी ड्यूटी का निच्वाह अच्छे से किया और समय रहते ट्रेन में आई खराबी को पकड़ लिया.

वर्जन