- दून रेजीडेंस वेलफेयर फ्रंट ने नगर आयुक्त के सामने रखा अपना पक्ष

देहरादून,

नगर निगम द्वारा 40 प्रतिशत हाउस टैक्स बढ़ाए जाने के निर्णय को लेकर दून रेजीडेंस वेलफेयर फ्रंट ने गुरुवार को अपना पक्ष नगर आयुक्त के सामने रखा. प्रस्तावित हाउस टैक्स को लेकर नगर निगम द्वारा आपत्तियां मांगी गई थीं. आपत्तियों पर सुनवाई के दौरान रेजिडेंस वेलफेयर फ्रंट के 32 मेंबर्स नगर आयुक्त से मिले. उन्होंने 40 परसेंट टैक्स बढ़ाए जाने पर आपत्ति जताई और कहा कि हाउस टैक्स में 5 परसेंट से ज्यादा इजाफा न किया जाए.

कोर्ट जाने की कही बात

फ्रंट के अध्यक्ष महेश भंडारी ने कहा सुविधाओं के नाम पर निगम कुछ भी बेहतर नहीं कर पाया है. शहर में स्ट्रीट लाइटें खराब हैं, नालियां चोक हैं, सड़कों के हालात बद से बदतर हैं. जलभराव की समस्या से लोग जूझ रहे हैं लेकिन, नगर निगम की ओर से ड्रेनेज सिस्टम दुरुस्त नहीं किया जा रहा ऐसे में 40 परसेंट हाउस टैक्स बढ़ाना कतई उचित नहीं है. उन्होंने कहा कि 2016 में भी हाउस टैक्स बढ़ा था, जो 4 साल से पहले नहीं बढ़ाया जा सकता. फ्रंट ने निगम से नया बोर्ड गठित कर टैक्स को कम करने की मांग की. उन्होंने कहा कि जरूरत पड़े तो 5 परसेंट से ज्यादा टैक्स नहीं बढ़ाया जाए. चेतावनी दी कि अगर ऐसा किया जाता है तो फ्रंट कोर्ट की शरण लेगा.