प्रमुख सचिव चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास की अध्यक्षता में शासन ने गठित की उच्चस्तरीय जांच कमेटी

उच्च स्तरीय जांच कमेटी सात दिनों में देगी आख्या

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: शिक्षक भर्ती लिखित परीक्षा 2018 में गड़बडि़यों और फर्जीवाड़े की जांच के लिए शासन की तरफ से उच्चस्तरीय जांच कमेटी का गठन किया गया है. प्रमुख सचिव चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास की अध्यक्षता में बनी उच्चस्तरीय जांच कमेटी सात दिनों के अंदर अपनी जांच आख्या रिपोर्ट शासन को सौंपेगी. उच्चस्तरीय जांच कमेटी में सर्व शिक्षा अभियान के निदेशक वेदपति मिश्रा, निदेशक बेसिक शिक्षा परिषद सर्वेन्द्र विक्रम सिंह को शामिल किया गया है. जांच समिति को पूरे प्रकरण में दोषी पाए जाने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों का उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुए अपनी रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है.

गड़बडि़यों को रोकने का उपाय भी बताए समिति

शासन की ओर से बनायी गई उच्च स्तरीय जांच कमेटी के ऊपर गड़बडि़यों और अनियमितताओं को रोकने का उपाय भी सुझाने का निर्देश दिया गया है. जिससे भविष्य में ऐसी गलतियों और गड़बडि़यों की पुनरावृत्ति होने से रोका जा सके. जांच समिति उनक विकल्पों को भी शासन के सामने प्रस्तुत करेगी. जिससे ऐसे मामलों को रोकने के लिए अभेद तंत्र विकसित किया जा सके.

-शिक्षक भर्ती परीक्षा में प्रथम दृष्टया पाई गई अनियमितताओं के लिए सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी डॉ. सुत्ता सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है. जांच के लिए उच्च स्तरीय कमेटी गठित की गई है.

मनीषा त्रिघाटिया, सचिव

बेसिक शिक्षा अनुभाग-1