मेंटल हेल्थ के लिए स्वास्थ्य विभाग चलाएगा अभियान

राष्ट्रीय मानसिक रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत टीचर्स और बच्चों की होगी काउंसलिंग

Meerut. शहर के स्कूल्स में अब हेल्थ डिपार्टमेंट बच्चों और टीचर्स से मन की बात करेगा. राष्ट्रीय मानसिक रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत स्कूल्स में मेंटल हेल्थ को इंप्रूव करने के लिए विभाग की ओर से अभियान चलाया जाएगा. इसके मद्देनजर जहां विभाग बच्चों के कुम्हलाते मन को सींचने का प्रयास करेगा, वही टीचर्स के लिए भी काउंसलिंग सेशन चलाए जाएंगे.

मानसिक समस्याओं का समाधान

बच्चों व टीचर्स में होने वाली मानसिक समस्याओं के कारणों को समझने के लिए डॉक्टर्स स्कूलों में पहुंचकर मन की बात करेंगे. इसके तहत विशेष तौर पर बच्चों में बढ़ती अपराधिक प्रवृति, शिक्षकों में डिप्रेशन, टेंशन जैसी समस्याओं को दूर करने के बारे में बताया जाएगा. इसके अलावा इनसे होने वाले खतरों के बारे में भी सेशन में बताया जाएगा.

मेंटल हेल्थ हाेगी इंप्रूव

स्कूलों में बच्चों के लिए इस तरह के शिविर आयोजित करने से उनकी मेंटल हेल्थ में इम्प्रूवमेंट होगा. वहीं टीचर्स और स्टूडेंट्स को भी एक दूसरे की साइकॉलोजी समझने में मदद मिलेगी. हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से पहले प्राइवेट उसके बाद सरकारी स्कूलों में यह अभियान चलाया जाएगा.

स्कूलों में बच्चों के साथ ही टीचर्स को भी काउंसलिंग की बेहद जरूरत होती हैं. इस काउसंलिंग सेशन से तनाव दूर करने में मदद मिलेगी. योजना तैयार होते ही इसे जल्द ही शुरु किया जाएगा.

डॉ. राजकुमार, सीएमओ, मेरठ