प्राइमरी इंग्लिश स्कूल्स के लिए होगा एग्जाम

परीक्षा के आधार पर होगा गुरु जी का चयन

MEERUT । सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ाने के लिए गुरुजी को परीक्षा पास करनी होगी। यही नहीं इन स्कूलों में ऐसे टीचर्स ही तैनात किए जाएंगे, जो 12वीं तक इंग्लिश सब्जेक्ट से पढ़े हो। जिला स्तर पर बनी कमेटी इनका चयन करेगी। 15 जून तक पूरी प्रक्रिया सम्पन्न करानी होगी।

स्पीकिंग में दिखाना होगा दम

इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ाने के लिए टीचर्स को स्पोकन इंग्लिश में दम दिखाना होगा। इसके लिए अलग से टेस्ट होगा। जबकि प्रिंसिपल और टीचर्स को 100 नंबर का पेपर भी पास करना होगा। इसमें रिटिन एग्जाम के लिए 50 व पर्सनेलिटी टेस्ट के लिए 50 नंबर निर्धारित हैं। इसका उददेश्य प्राइमरी व अपर प्राइमरी के सिलेबस की समझ, जानकारी, टीचिंग एबिलिटी आदि को परखना होगा। हर स्कूल में एक प्रिंसिपल व 5 टीचर्स नियुक्त किए जाने हैं।

रूरल एरिया के टीचर्स नहीं

इंग्लिश मीडियम स्कूल के लिए रूरल एरिया के टीचर रूरल में ही तैनात होंगे। शहर के स्कूलों में इनका चयन नहीं हो सकेगा। टीचर्स की नियुक्ति के लिए बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से बकायदा गाइडलाइन जारी की गई है। प्रिंसिपल भी या तो प्राइमरी स्कूलों के प्रिंसिपल होंगे या अपर प्राइमरी स्कूलों के सहायक टीचर्स को ही बनाया जाएगा।

करना होगा प्रचार

परिषद की ओर से इस सत्र में जिले में नए 65 स्कूल खोलने का फरमान जारी किया गया है। पिछले सत्र में 71 स्कूल खोले गए थे। इन स्कूलों में बच्चों की रूचि व संख्या में वृद्धि को लेकर स्कूल स्तर पर प्रचार करना होगा। इसके लिए पीटीएम में पेरेंट्स को जागरूक किया जाएगा। इसके अलावा स्कूल मैनेजमेंट कमेटी भी जिला स्तर पर डोर-टू डोर इसका प्रचार करेगी। जुलाई के पहले दिन से इन स्कूलों को शुरु किया जाएगा।

----

ये होंगे समिति के सदस्य

जिला शिक्षा और प्रशिक्षण संस्थान के प्रिंसिपल- अध्यक्ष

जीआईसी के इंग्लिश के प्रवक्ता- सदस्य

इंग्लिश सब्जेक्ट के एक्सपर्ट- सदस्य

बीएसए- सदस्य सचिव

खंड शिक्षा अधिकारी- सदस्य

---------

स्कूल शुरु करने के लिए रणनीति तैयार कर ली है। आचार संहिता के बाद काम शुरु होगा। निर्धारित समय सीमा तक पूरी प्रक्रिया कराई जाएगी।

सतेंद्र ढाका, बीएसए, मेरठ।