- शिक्षकों की बातें याद कर, कर रहे हैं उनकों थैंक्स

Meerut- शिक्षक दिवस आने में बस एक ही दिन बचा है. पांच सितंबर को पूरे देश में शिक्षक दिवस मनाया जाएगा. कहते हैं जीवन में गुरु का बड़ा ही महत्वपूर्ण स्थान है. जीवन को सही दिशा बताने वाला गुरु ही होता है. ऐसे में शहरवासी भी अपने गुरु के बताई बातों और उनके बताएं रास्तों को याद कर रहे हैं.

याद है उनका पहला पाठ

कुछ को अपने शिक्षक का पढ़ाया हुआ पहला पाठ आज भी याद आता है, तो उनकी याद आती है. अक्सर आज शिक्षक के डांटने पर हमें बुरा फील होता है, लेकिन उनकी एक डांट या थोड़ी सी मार से हमारा जीवन सफल हो जाता है.

हमें याद है अपने शिक्षक

मुझे आज भी याद है जब में क्लास थर्ड में था. मेरी इंग्लिश उस समय कमजोर थी. लेकिन जब पहली बार मेरी इंग्लिश टीचर ने मुझे पूरी क्लास में डांटा था. तो मैंने उसी दिन से ठान ली कि इंग्लिश अच्छी करनी है. आज मैं इंग्लिश में एक्स्पर्ट हूं.

संदीप, जॉब

मैं साइंस व मैथ्स में ज्यादा अच्छा नहीं था. उन दिनों मैं आठवीं क्लास में था. मेरी मैथ्स टीचर ने मेरे होमवर्क न करने पर पिटाई करते हुए कहा कि एक दिन यहीं मार तुझे सफलता दिलाएगी. आज मैं सॉफ्टवेयर इंजीनियर हूं.

नितिन, सॉफ्टवेयर इंजी.

जब मैं छोटा था तो मेरी हिंदी टीचर कहती थी कि आपकी मेहनत ही आपको सफलता दिला सकती है. मैंने उनकी बात को ध्यान रखते हुए हमेशा मेहनत करने पर ही फोकस किया.

सोनू, जॉब

जब हम छोटे थे अपनी टीचर की कई बातों को हम इग्नोर किया करते थे. जैसे कि हर शरारती बच्चा करता है, कई बार हम अपने टीचर की बातों को मजाक में ले जाते थे. लेकिन आज जब मैं खुद टीचर हूं तो फिल होता है कि उनको कितना बुरा लगता होगा.

वीना, टीचर

मैं जब फोर्थ क्लास में थी तो मेरी राइटिंग बहुत ही बुरी हुआ करती थी. मुझे याद है मेरी नीरा मैम जिन्होंने मेरी राइटिंग को अच्छा कराने में मेरी हेल्प की है. अब जबकि मैनेजर के पद पर हूं आज भी उनको याद कर हर साल उन्हें हिंदी व इंग्लिश में लेटर लिखती हूं .

दिव्या, मैनेजर