क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स के चुनाव का तापमान बारिश के मौसम में भी बरकरार है. बुधवार को टीम मारू के सदस्य हाथ में छाता लेकर वोटरों से संपर्क करने निकल पड़े. कैंपेन के दौरान टीम मारू की टीम ने कई व्यापारियों से संपर्क किया और व्यवसायिक हित में किए जाने वाले कामों के एजेंडे से उन्हें अवगत कराया. दीपक कुमार मारू ने व्यापारियों से कहा कि उनकी टीम मारू ने ओसीसी कंपाउंड, लालजी हिरजी रोड, राधेश्याम गली, विष्णु गली के व्यापारिक इलाको में पदयात्रा कर वोटर्स से संपर्क साधा और अपने पक्ष में मतदान करने की अपील की.

मुद्दों से कराएंगे अवगत

टीम आरडी ने बुधवार को मोरहाबादी स्थित मान्या पैलेस में चाय पर चर्चा के दौरान चुनाव की रणनीति को लेकर मंथन किया. इस मौके पर भाजपा नेता गामा सिंह के निधन को लेकर श्रद्धांजलि दी गई. आरडी सिंह ने अपनी टीम के मेंबर्स से कहा कि वोटरों को अपने मुद्दों से संबंधित जानकारी दें. उन्होंने कहा कि मतदाताओं से आग्रह किया जाएगा कि वे कि चैंबर की गरिमा को बनाए रखने के लिए उनके पक्ष में वोट करें. टीम के चुनाव कार्यालय का हरमू रोड स्थित गिरिधर प्लाजा में उद्घाटन किया जाएगा.

चैंबर के पत्रों का सरकार पर असर नहीं :- अंजय सरावगी

एफजेसीसीआई राज्य के व्यवसायिक और औद्योगिक घरानों के हितों की संरक्षिणी संस्था है. लेकिन, कई मामलों में हम खरे नहीं उतर पा रहे हैं. यह कहना है कि टीम मारू के सदस्य अंजय सरावगी का. वे कहते हैं-सरकार के साथ चेंबर की सालों भर मीटिंग होती हैं, आश्वासन भी मिलता है कि समस्याओं का समाधान किया जाएगा. लेकिन, सच्चाई है कि कई विभाग सिर्फ कागजी घोड़े दौड़ाते हैं. मतलब साफ हैं कि चैंबर के प्रयासों को वे गंभीरता से नहीं लेते हैं. आज झारखंड में टूरिज्म की असीम संभावनाएं हैं जिसपर काम होना चाहिए. चैंबर कोशिश करता है, लेकिन उसे अमलीजामा पहनाने के लिए सरकारें गंभीर नहीं दिखती हैं. राज्य में एमओयू का बहुत बुरा हाल है. एमओयू कई हुए हैं लेकिन कुछ एक को छोड़कर ज्यादातर कंपनियों ने दिलचस्पी नहीं दिखाई है. रांची में व्यापार का स्तर गिर रहा है. चैंबर वह काम कर रहा है, जो काम वार्ड पार्षद को करना चाहिए. इस नियम को बदलना होगा और जवाबदेही फिक्स करनी होगी. बता दें कि अंजय सरावगी लॉ एंड ऑर्डर सबकमिटी के चैयरमैन रहे हैं साथ ही कई समाजसेवी संस्थाओं से जुडे़ हुए हैं.

चैंबर की गरिमा को रखेंगे बरकरार- कमल जैन

टीम आरडी सिंह के सदस्य कमल जैन के पास काम करने का अनुभव है. सामाजिक संस्थाओं से जुड़े हुए हैं.वे कहते हैं-किसी भी संस्थान, सरकार अथवा व्यापार में दूरदर्शी सोच का होना अतिआवश्यक है. चूंकि चैंबर ट्रेड की शीर्ष संस्था है और राज्य के विकास में इसका अहम योगदान रहा है. इसलिए, चैंबर के कार्यो का मूल्यांकन होना चाहिए. कमल कहते हैं -अगर उन्हें अवसर मिला तो वे व्यवसायियों के लिए संघर्ष करते रहे हैं और आगे भी करेंगे. चैंबर में राजनीति नहीं होनी चाहिए बल्कि चैंबर के बहुउद्देशीय मूल्यों का संव‌र्द्धन के लिए काम करना होगा. चैंबर को व्यक्तिगत लाभ से उबारना होगा. कमल जैन कई वर्षो से चैंबर से जुड़े हुए हैं और हर बार जीत दर्ज कराते रहे हैं.