-एमएमएमयूटी में एनुअल टेक फेस्ट की शुरुआत

-तीन दिनों तक चलने वाले इस महाकुंभ में दिखी क्रिएटिविटी की झलक

-स्टूडेंट्स ने किया अपने कौशल का प्रदर्शन

GORAKHPUR: मदन मोहन मालवीय यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी में टेक्नोलॉजी के बिगेस्ट इवेंट 'टेक सृजन' की शुरुआत हुई. इवेंट में इनोवेशन की भरमार देखने को मिली. क्रिएटिव आइडियाज और नई टेक्नीक से बने रोबोट्स को यहां के बडिंग इंजीनियर्स ने खुद बनाया और इसे लेकर वह कॉम्प्टीशन का हिस्सा बने. आईईईई और एसएई के ज्वाइंट को-ऑर्डिनेशन में ऑर्गनाइज इस इवेंट का इनॉगरेशन वीसी प्रो. श्रीनिवास सिंह ने किया. मौके पर यूनिवर्सिटी के एचओडीज, डीन और उच्चाधिकारी भी मौजूद रहे.

एक्वा रोबोटिक्स से शुरुआत

इनोवेटिव थिंकिंग रखने वाले बडिंग इंजीनियर्स के बीच उनके बने रोबोट्स से खूब जंग हुई. वायर्ड और वायरलेस रोबोट्स के लिए बनाई गई एरीना में स्टूडेंट्स ने अपनी क्रिएटिविटी देखने को मिली. इस एरीना की खासियत यह थी कि इसमें रोबोट्स को पहियों के सहारे चलकर नहीं बल्कि पहियों के ही साहरे तैर कर कर अपने ऑपोनेंट से कॉम्प्टीट करना था. 'एक्वा रोबोटिक्स' नाम से ऑर्गनाइज इस न्यूएस्ट फन गेमिंग में पांच दर्जन से ज्यादा वायर्ड और करीब चार दर्जन वायरलेस रोबोट्स टीम्स ने पार्टिसिपेट किया. वहीं ब्रिज कृति में स्टूडेंट्स ने आइसक्रीम स्टिक से मजबूत ब्रिज बनाए.

माइंड की भी हुई परख

इनोवेशन की फील्ड में दम दिखाने वाले बडिंग इंजीनियर्स के माइंड टेस्टिंग के लिए भी कई तरह के गेम्स ऑर्गनाइज किए. इसमें जहां साइंस और जनरल नॉलेज के मास्टर की तलाश के लिए 'रेसनोवा' इवेंट ऑर्गनाइज की गई. इसके साथ ही 'एब इनिश्यो', 'बिज ज्ञान', 'लेबरिंथ', 'स्यूडो रिसर्च' 'टेक प्रस्तुति' इवेंट भी कंडक्ट हुए. तनमय कुमार ने बताया कि इसमें बड़ी तादाद में स्टूडेंट्स ने हिस्सेदारी की. वहीं लेटेस्ट टेक्नोलॉजी की नॉलेज को परखने के लिए 'टेक नीति' इवेंट में भी पार्टिसिपेंट्स ने खूब माथ्ापच्ची की.

स्कूली बच्चों ने की सैर

प्रोग्राम के दौरान स्कूली स्टूडेंट्स के लिए भी खास इंतजाम किए गए थे. जहां स्कूल के बच्चे अपने मॉडल बनाकर इंजीनियरिंग के महाकुंभ में शरीक हुए. वहीं उन्होंने अपने फ्यूचर के सेंटर को भी उन्हें देखने का मौका मिला. उन्हें सारा कैंपस घुमाया गया और उनके मन में उमड़ रहे सवालों के भंवर को भी शांत कराया गया. स्टूडेंट्स के लगाए मॉडल्स के बीच कॉम्प्टीशन भी ऑर्गनाइज किया जा रहा है, जिसमें स्टूडेंट्स एक से बढ़कर एक मॉडल बनाकर खुद को प्रूव कर रहे हैं.