-छिवकी जंक्शन के बाहर टैम्पो वालों की जारी है मनमानी

-छिवकी से रामबाग तक 15 रुपए है किराया, लोगों से लिया जा रहा 30 रुपया

ALLAHABAD: इलाहाबाद टैम्पो, टैक्सी, विक्रम यूनियन ने हर रूट का किराया फिक्स कर रखा है. लेकिन इलाहाबाद छिवकी स्टेशन के बाहर टैम्पो और विक्रम चालकों द्वारा निर्धारित रेट लिस्ट की धज्जियां उड़ाते हुए मनमाने तरीके से दुगुना किराया लिया जा रहा है. इस पर न तो यूनियन की नजर है और न ही रेलवे एडमिनिस्ट्रेशन की. दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट रिपोर्टर ने रियलिटी चेक किया तो हकीकत सामने आई.

होती है मनमानी

इलाहाबाद छिवकी स्टेशन पर पैसेंजर्स की भीड़ बढ़ने पर टेम्पो और विक्रम चालकों ने मनमानी रेट वसूलना शुरू कर दिया है. मुंबई से आने वाली ट्रेनों से उतरने वाले पैसेंजर्स को रामबाग और सिविल लाइंस तक पहुंचाने के लिए निर्धारित रेट से दुगुना किराया लिया जा रहा है. गुरुवार को दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट रिपोर्टर सुबह नौ बजे छिवकी जंक्शन पहुंचा..

- इलाहाबाद छिवकी जंक्शन की बाउंड्रीवाल में खड़े टेम्पो व विक्रम चालकों से रामबाग तक छोड़ने का किराया पूछा.

-एक विक्रम चालक ने रामबाग तक छोड़ने का किराया 30 रुपए बताया

-रिपोर्टर ने जब छिवकी से रामबाग का किराया केवल पंद्रह रुपए होने की बात कही तो चालक ने कहा यहां से 30 रुपए ही लगेगा. देना हो दो, नहीं तो चले जाओ.

-रिपोर्टर ने एक और टेम्पो चालक से सिविल लाइंस तक का किराया पूछा तो उसने 40 रुपये पर सवारी मांगा, जबकि सिविल लाइंस तक का किराया 20 रुपए से अधिक नहीं है.

वादे पूरे होने का इंतजार

-छिवकी जंक्शन को डेवलप करते हुए रेलवे ने इलाहाबाद छिवकी जंक्शन का रूप देने के साथ ही इलाहाबाद आने वाली ट्रेनों का स्टॉपेज छिवकी तक ही सीमित कर दिया है.

-इसकी वजह से मुंबई रूट की ट्रेनों को पकड़ने और ट्रेन से उतरने वाले पैसेंजर्स की भीड़ इलाहाबाद छिवकी जंक्शन डायवर्ट हो गई है.

-ट्रेनों का ठहराव छिवकी जंक्शन तक करने के बाद रेलवे ने लोगों के लिए इलाहाबाद से छिवकी तक स्पेशल व्हीकल चलाने की बात कही थी. लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ.

छिवकी से रामबाग तक का किराया पंद्रह रुपया निर्धारित है. इससे अधिक किराया किसी भी टेम्पो चालक द्वारा नहीं लेना चाहिए. अगर छिवकी से रामबाग तक का 30 रुपया लिया जा रहा है, तो इसकी जांच कराकर मनमानी पर पूरी तरह से रोक लगाई जाएगी.

-विनोद चंद्र दुबे

अध्यक्ष

टेम्पो यूनियन, इलाहाबाद