- दिल्ली और लखनऊ जाने वाली बसों को 10 पैसेंजर्स भी मिलना मुश्किल

- अन्य माह की अपेक्षा 1 जनवरी से घटी लाखों की कमाई, अफसर परेशान

========================

- 552 बसें हैं बरेली रीजन में

- 1 करोड़ रु. थी हर दिन की कमाई

- 70 लाख के आसपास हो रही 1 जनवरी के बाद से कमाई

- 41 बसें 12 जनवरी को बरेली रीजन से जा रहीं कुंभ

- 36 ड्राइवर, 28 कंडक्टर कुंभ में ड्यूटी पर जा रहे प्रयागराज

========================

<द्गठ्ठद्द>क्चन्क्त्रश्वढ्ढरुरुङ्घ<द्गठ्ठद्दद्गठ्ठस्त्र> :

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम इस समय पैसेंजर्स की कमी से जूझ रहा है. ठंड के कारण बरेली रीजन के पैसेंजर्स ने लंबी दूरी का सफर तय करने के लिए बसों से चलना छोड़ दिया है. इससे रोडवेज की कमाई पर बड़ा असर पड़ा है. सामान्य दिनों में बरेली रीजन में रोडवेज बसों की प्रतिदिन कमाई जहां एक करोड से ऊपर थी, जो घटकर अब महज 70 लाख रुपए तक आ गई है. रोडवेज के अफसर भी इसको लेकर परेशान हैं. उनका कहना है कि ठंड के कारण यात्रियों की संख्या घटी है. इस समय तो खर्च निकलना भी मुश्किल हाे रहा है.

50 प्रतिशत पैसेंजर्स जरूरी

यूपी परिवहन निगम के अनुसार डिपो से रवाना होने के लिए प्रत्येक बस में 50 प्रतिशत पैसेंजर्स होना जरूरी है. लेकिन, इस समय स्थिति यह है कि दिल्ली और लखनऊ जाने वाली 52 सीटर बसों में मजह 10-12 पैसेंजर्स ही सफर कर रहे हैं. यही हाल बस के लौटने का ही है. इससे किसी तरह उनकी बस का एवरेज ही निकल पाता है, लेकिन विभाग की कमाई नहीं हो पाती है. इसीलिए परिवहन निगम की कमाई 1 जनवरी के बाद से लगातार घट रही है.

वर्जन

देहरादून के लिए भाई के पास जा रहा हूं. ठंड में सफर के दौरान सिर्फ प्रॉब्लम ही बढ़ती है. इस समय तो सफर के लिए वहीं इंसान घर से बाहर निकलता है जिसे इमरजेंसी में जाना होता है. ठंड में कोई भी परेशान होना नहीं चाहता है.

देवेन्द्र, पीलीभीत

ठंड में सफर करना मुश्किल भरा होता है, इसलिए कोई नहीं निकलता. मुझे अर्जेट काम के लिए दिल्ली के लिए निकला हूं. ठंड अधिक है.

राजीव कुमार, मीरगंज

-----------------------

वर्दी में दिखेंगे कंडक्टर व ड्राइवर

बरेली. कुंभ मेले में सभी बसों के ड्राइवर और कंडक्टर वर्दी पहने और नेम प्लेट लगाए नजर आएंगे. इसके लिए शासन की तरफ से आदेश जारी करने के साथ ही बजट भी जारी कर दिया गया है. जिन बस ड्राइवर और कंडक्टर के पास वर्दी नहीं थी, उनकी ड्रेस तैयार कराने के लिए फ्राइडे को पुराना रोडवेज बस स्टैंड पर टेलर बुलाया गया. अफसरों का कहना है कि जिनकी वर्दी बनने में एक दो दिन लगेंगे उन्हें दूसरी बस से भिजवा दी जाएगी. ताकि वहां पर किसी बस कंडक्टर और ड्राइवर को कोई प्रॉब्लम न हो.

कुंभ के लिए बसें रवाना

बरेली रीजन से कुंभ के लिए 41 बसें 12 जनवरी को रवाना होगी. इसके लिए पुराना रोडवेज बस स्टैंड पर दिन भर तैयारियां चलती रहीं. अफसरों ने कुंभ के लिए जाने वाली बसों की रसीद बुक्स, मुहर, और अन्य सामग्री बोरे में पैक करते रहे. अफसरों ने बताया कि बरेली और रुहेलखंड डिपो की 18 बसें जबकि बाकी बसें पीलीभीत और बदायूं डिपो की जा रही हैं.

========================