ALLAHABAD: किसी भी शादी के बाद सवा महीने का समय उसके सबसे खूबसूरत पलों में गिना जाता है. इस दौरान नई नवेलियों को कई सौगातें मिलती हैं और कई रस्में भी निभाई जाती हैं. यह भी कहा जाता है कि सवा महीने तक नई नवेली दुल्हन की मेहंदी का रंग नहीं छूटता है. लेकिन यहां मुंडेरा बाजार इलाके में बुधवार को एक विवाहिता सवा महीने के अंदर ही फांसी पर लटक गई. अब मामला सुसाइड का है या हत्या का यह तो भविष्य में पता चलेगा, लेकिन इस घटना के बारे में जिसने भी सुना भौचक रह गया.

फंदे से उतार ले गए हॉस्पिटल

पुलिस के अनुसार उन्हें मामले की सूचना किसी तीसरे पक्ष से मिली थी. उन्होंने जब मायके वालों को सूचना दी तो उन्होंने दहेज उत्पीड़न और हत्या आरोप लगाया. इसके पहले ही ससुराल वाले उसका शव फंदे से उतारकर हॉस्पिटल ले गए थे. वहां डॉक्टर ने उसकी जांच के बाद मृत घोषित कर दिया. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है.

तहरीर का है इंतजार

कौशांबी जिले के भरवारी निवासी श्रीशचंद्र केसरवानी ने बेटी मनीषा की शादी आठ मार्च 2018 को धूमनगंज एरिया के मुंडेरा बाजार निवासी विष्णु केसरवानी से की. बुधवार दोपहर मनीषा का शव कमरे में दुपट्टे के सहारे फांसी के फंदे से लटकता मिला. उन्होंने शव उतारा और उसे एसआरएन हॉस्पिटल ले गए. वहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया. बताते हैं कि किसी अन्य व्यक्ति की सूचना पर पहुंची पुलिस ने जानकारी मृतका के मायकेवालों को दी. रोते बिलखते पहुंचे मनीषा के भाई हिमांशु ने ससुराल वालों पर दहेज हत्या का आरोप लगाया. उसने पुलिस को बताया कि बहन ने सुबह ही फोन कर बताया था उसे दहेज के लिए परेशान किया जा रहा है.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो सकेगा. मृतका के भाई ने ससुरालियों पर दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाया है. यदि वह तहरीर देता है तो आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

केपी सिंह, इंस्पेक्टर, धूमनगंज थाना