परिवहन मंत्री का आरटीओ कार्यालय समेत भैंसाली डिपो पर औचक निरीक्षण

मंत्री ने एआरटीओ और आरआई समेत आधा दर्जन से अधिक बाबुओं का नाम डायरी में लिखा

आम पब्लिक की शिकायत पर मंत्री ने लगाई अधिकारियों को फटकार

Meerut. शुक्रवार दोपहर परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह के आरटीओ कार्यालय और भैंसाली डिपो पर औचक निरीक्षण से अधिकारियों में खलबली मच गई. बिना एस्कार्ट साधारण गाड़ी से आरटीओ कार्यालय पहुंचे मंत्री ने विभाग आए आवेदकों से बातचीत कर एआरटीओ समेत आरआई को जमकर फटकार लगाई. आवेदकों की पर मंत्री ने विभाग में कार्यरत आधा दर्जन से अधिक बाबू व कर्मचारियों के नाम डायरी में नोट कर लिए. आरटीओ परिसर के निरीक्षण के बाद मंत्री ने भैंसाली डिपो का निरीक्षण कर विशेष दिशा-निर्देश दिए.

बंद हुए दरवाजे

दोपहर करीब पौने तीन बजे साधारण गाड़ी से विभाग में पहुंचे परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह के परिसर में आते ही विभाग के सभी बाहर जाने वाले रास्ते बंद कर दिए गए. मंत्री के आते ही दलालों में खलबली मच गई और दलाल दीवार फांदकर फरार हो गए. मंत्री ने परिसर में प्रवेश करते ही फिटनेस ग्राउंड का निरीक्षण कर गाडि़यों की फिटनेस और रजिस्ट्रेशन कराने आए आवेदकों से बातचीत कर समस्याओं की जानकारी ली.

एआरटीओ को नहीं मालूम फीस

निरीक्षण के दौरान मंत्री ने एआरटीओ श्वेता वर्मा से वाहनों की लाइसेंस से लेकर डुप्लीकेट फीस की जानकारी ली तो एआरटीओ सही जवाब नहीं दे पाई इस पर मंत्री ने एआरटीओ को कार्यप्रणाली में सुधार की चेतावनी देते हुए जमकर फटकार लगाई. इस दौरान मंत्री ने एआरटीओ से लेकर आईआर तक से विभाग के बोर्ड पर लिखी विभिन्न मदों के शुल्क की जानकारी लेते हुए सवाल-जवाब भी किए.

शिकायत पर चेतावनी

इस दौरान मंत्री ने एआरटीओ के निजी सहयोगी सरोज के विभागीय कार्यो में लिप्त होने की शिकायत पर एआरटीओ को चेतावनी देते हुए दलालों से काम ना लेने की हिदायत भी दी. मंत्री ने विभाग में कार्यरत बाहरी युवकों के बारे में पूछताछ करते हुए दलालों की रोकथाम पर सख्त निर्देश दिए.

अवैध वसूली पर फटकार

निरीक्षण के दौरान आवेदकों ने मंत्री से फ‌र्स्ट ऐड बॉक्स और वाहन पर लगाई जाने वाली पीली पट्टी के नाम पर विभाग में अवैध वसूली का आरोप भी परिसर में निर्धारित एक दलाल पर लगाया. इस पर मंत्री ने आरआई चंपा लाल को आडे़ हाथ लेते हुए जमकर फटकार लगाई और फिटनेस समेत तमाम अन्य सुविधाओं के रेट और नियमों की जानकारी ली. इस दौरान वाहनों की फिटनेस सही तरीके और नियमानुसार ना होने पर भी मंत्री ने नाराजगी जाहिर करते हुए चेतावनी दी.

डायरी में लिखे नाम

निरीक्षण के दौरान मंत्री ने शिकायत के आधार पर एआरटीओ श्वेता वर्मा और आरआई चंपा लाल समेत विभाग कार्यरत लाइसेंस विभाग के बाबू नवाब, ट्रांसफर विभाग में कार्यरत मनु और फिटनेस में हेल्पर संजय समेत आधा दर्जन से अधिक बाबुओं के नाम डायरी में नोट कर लिए.

नहीं हुई फिटनेस

निरीक्षण के दौरान मंत्री ने फिटनेस ग्राउंड में गाडि़यों की लंबी लाइन देखकर आरआई से पूछा कि अब तक कितनी गाडि़यों की फिटनेस हुई है तो आरआई ने कहा कि अभी फिटनेस शुरू की गई है. इस पर मंत्री ने आरआई को घड़ी में समय दिखाते हुए जमकर फटकार लगाई.

भ्रष्टाचार पर वार

परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने बताया कि जल्द ही ड्राइविंग ट्रैक, पॉल्यूशन सेंटर जैसी सुविधाएं भी ऑनलाइन होंगी. इससे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा.

भैसाली बस अड्डे भी पहुंचे

आरटीओ कार्यालय के बाद परिवहन मंत्री ने निर्माणाधीन भैंसाली बस डिपो का निरीक्षण किया. इस दौरान यात्रियों से बातचीत करते हुए मंत्री ने समस्याओं की जानकारी ली और अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए. यात्रियों ने बताया कि डग्गामार बसों पर लगाम नहीं लग रहा है. साथ ही यात्रियों ने बताया कि अनुबंधित बसों में गंदगी की भरमार रहती है. कई रुटों पर बसों की संख्या काफी कम है. बस डिपो बरसात में कीचड़ में बदल जाता है, जिससे यात्रियों को बेहद परेशानी होती है. मंत्री ने बसों की सफाई समेत बस डिपो के कार्य को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश जारी किए.