डोरली में आयोजित हुई महापंचायत

Meerut. गोतस्करी के आरोप में जेल में बंद डोरली निवासी नरेंद्र नागर की मौत के प्रकरण में रविवार को उसके घर डोरली के बाहर शोक सभा और महापंचायत का आयोजन किया गया. जिसमें कई पार्टी के नेता और सर्व समाज के लोगों ने भाग लिया. महापंचायत में संबोधन के दौरान नेताओं के जमकर बोल बिगड़े.

विरोध की रणनीति बनी

सपा नेता अतुल प्रधान के संयोजन में डोरली में रविवार को नेताओं ने जमकर भड़ास निकाली. भाजपा नेता मुखिया गुर्जर ने तो यहां तक कह दिया कि नरेंद्र नागर के परिजनों को इंसाफ और नरेंद्र के साथ मवाना थाने से जेल में बंद हुए बाकी तीन निर्दोषों को नहीं छोड़ा गया तो वह नौ मई को धनसिंह कोतवाल की प्रतिमा पर भीड़ के साथ पुष्प अíपत करने के बाद जेल पर हमलाकर उन्हें छुड़वाने का काम करेंगे. पंचायत में सुबह से ही पुलिस-प्रशासनिक अफसर भी मौजूद थे. महापंचायत में भाजपा, सपा, बसपा, रालोद के नेताओं के अलावा सर्व समाज के लोग उपस्थित थे. पंचायत का संचालन सपा नेता अतुल प्रधान कर रहे थे. मीरापुर से भाजपा विधायक अवतार सिंह भड़ाना ने पीडि़त परिजनों के लिए मुआवजे की मांग की.

यह रहे मौजूद

भाजपा विधायक दिनेश खटीक, सोमेंद्र तोमर, जिला पंचायत अध्यक्ष कुल¨वदर सिंह, रालोद जिलाध्यक्ष राहुल देव, बसपा नेता भारतवीर सिंह, सपा नेता आदिल चौधरी आदि भी इस दौरान मौजूद थे.