1- कतर एयरवेज के हवाई जहाज को एक महिला ने चेन्नई एयरपोर्ट पर उतारने के लिए मजबूर कर दिया। रविवार को दोहा से बाली जा रहे कतर एयरवेज के इस विमान को एक विवाद के चलते चेन्नई एयरपोर्ट पर उतारना पड़ा। हवाई जहाज में बैठे एक पति-पत्नी के बीच काफी विवाद बढ़ गया। महिला का कहना था कि उसके पति ने उसके साथ धोखा किया है और इसे लेकर विवाद इतना बढ़ा कि पत्नी ने प्लेन को बीच में उतारने पर मजबूर कर दिया। महिला ने जब अपने पति का फोन अनलॉक करके देखा तो उसे पता चला कि उसका पति उसे धोखा दे रहा है। महिला नशे में थी और उसने हवाई जहाज के क्रू मेंबर्स के साथ भी बदतमीजी की। शुरू में वहां मौजूद कर्मचारियों नें महिला को शांत कराने की कोशिश की लेकिन स्थिति को हाथ से निकलता देख कर्मचारियों नें प्लेन रोककर महिला को पति सहित बाहर निकालने का निर्णय लिया। सीआइएसएफ ने कहा कि पांच नवंबर को सुबह 10 बजे कतर एयरवेज की फ्लाइट को चेन्नई एयरपोर्ट पर उतारना पड़ा था। फ्लाइट से एक इरानी महिला सहित सभी इरानी यात्रियों को फ्लाइट से उतार दिया गया था क्योंकि उस महिला ने एयरलाइन के क्रू मेंबर के साथ बद्तमीजी की थी। बाद में उन सब को कुआलालांपुर जाने वाली फ्लाइट से भेज दिया गया।
वो अजीबोगरीब वजहें जब हजारों फुट ऊंचाई से विमानों की करानी पड़ी आपात लैंडिंग
2- कोच्चि जा रहा एयर इंडिया का विमान इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद यहां आपात स्थिति में उतरने के लिए बाध्य हुआ, क्योंकि इंजीनियरों ने लैंडिंग गियर से पिन नहीं हटाए थे। एयर इंडिया के एक प्रवक्ता ने मंगलवार को कहा कि दो इंजीनियरों के पिन हटाना भूल जाने के बाद जांच होने तक उन्हें ड्यूटी से हटा दिया गया है। एआई 933 दिल्ली-कोच्चि-दुबई विमान ने 234 यात्रियों के साथ सोमवार सुबह पांच बजकर 36 मिनट पर इंदिरा गांधी हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी। लेकिन 40 मिनट बाद ही विमान वापस लौटने और आपात लैंडिंग करने के लिए बाध्य हुआ क्योंकि पायलट पहियों को वापस नहीं मोड़ पाया। विमान के वापस लौटने पर यह पाया गया कि लैंडिंग गियर से पिन नहीं हटाए गए हैं। आखिरकार विमान ने चार घंटे और दो मिनट के विलंब के साथ सुबह नौ बजकर 56 मिनट पर दोबारा उड़ान भरी। गियर पिन विमान के जमीन पर रहने के दौरान लैंडिंग गियर को दुर्घटनावश मुड़ने से रोकते हैं। लेकिन यदि उड़ान भरने से पहले उन्हें नहीं हटाया गया तो पायलट विमान के हवा में रहने के दौरान पहियों को वापस नहीं मोड़ सकता।
वो अजीबोगरीब वजहें जब हजारों फुट ऊंचाई से विमानों की करानी पड़ी आपात लैंडिंग
3- कोलकाता से उड़ान भरने वाली एयर इंडिया की एक फ्लाइट के पायलट्स टेक ऑफ करने के बाद विमान का पहिया बंद करना भूल गए। उड़ान की आधी दूरी तय करने बाद उन्हें अपनी इस गलती का एहसास तब हुआ जब फ्लाइट का फ्यूल खत्म होने के कगार पर पहुंच गया। मजबूरी में विमान को डायवर्ट करके नागपुर में उतारना पड़ा। घटना के बाद दोनों पायलट्स को ड्यूटी से हटा दिया गया है। विमान ने कोलकाता से सुबह 9 बजकर 30 मिनट पर उड़ान भरी थी। एयर इंडिया की फ्लाइट संख्या AI 676 के पायलट्स ने इस बात पर ध्यान नहीं दिया कि प्लेन के पहिए बंद नहीं हैं जबकि ऐसा करना जरूरी होता है। नियमानुसार टेक ऑफ के बाद पायलट्स को यह सुनिश्चत करना होता है लैंडिंग गियर को बंद कर दिया जाए लेकिन पायलट्स ने ऐसा नहीं किया। उनकी इस गलती की वजह से प्यूल की खपत तेजी से होनी लगी और इमर्जेंसी में प्लेन को डायवर्ट करके नागपुर में उतारना पड़ा। उड़ान के दौरान पायलट्स को बीच-बीच में फ्यूल भी चेक करना होता है, लेकिन इस फ्लाइट के पायलट्स ने ऐसा नहीं किया। टेक ऑफ करने से पहले प्लेन में उड़ान के लिए पर्याप्त फ्यूल मौजूद था, अगर पायलट्स लैंडिंग गियर को बंद करना नहीं भूलते तो ऐसी आपात स्थिति का मना नहीं करना पड़ता। एयर इंडिया के प्रवक्ता धनंजय कुमार ने घटना की पुष्टि की है।
वो अजीबोगरीब वजहें जब हजारों फुट ऊंचाई से विमानों की करानी पड़ी आपात लैंडिंग
4- मुंबई से लंदन जा रहे एयर इंडिया के एक विमान में चूहा दिखने से अफरा-तफरी मच गई। विमान को बीच रास्‍ते से ही मुंबई लौटना पड़ा। यात्रियों ने जब प्‍लेन के अंदर चूहा देखा तो वह तेहरान के ऊपर उड़ान भर रहा था। विमान केबिन के क्रू सदस्‍यों ने भी प्‍लेन में चूहा होने की जानकारी चालक को दी। जिसके बाद पायलट ने डीजीसीए से संपर्क किया और वापस लौटने की बात कही। यात्रियों की सुरक्षा को ध्‍यान में रखते हुए विमान को मुंबई वापस लाया गया और छत्रपति शिवाजी अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे पर उसे आपात स्थिती में उतारा गया। इस विमान में 240 यात्री सवार थे। विमान ने सुबह लगभग 8 बजे मुंबई से लंदन के लिए उड़ान भरी थी। विमान को दोपहर 12 बजे करीब मुंबई एयरपोर्ट पर वापस लाया गया और शाम को छह घंटे के बाद यात्रियों को दूसरे विमान से लंदन रवाना किया गया।
वो अजीबोगरीब वजहें जब हजारों फुट ऊंचाई से विमानों की करानी पड़ी आपात लैंडिंग
5- एक ब्रिटिश यात्री ने 30,000 फुट की उंचाई पर उड़ान भर रहे विमान का दरवाजा खोलने की कोशिश की जिसके बाद विमान को फ्रांस में एक हवाईअड्डे पर आपात स्थिति में उतारना पड़ा।  मारकेच, मोरक्को से लंदन के गेटविक जा रहे इजी जेट के 180 सीटों वाले एयरबस ए 320 विमान को सोमवार को मजबूरी में तब फ्रांस की ओर जाना पड़ा जब एक शराबी ने 30,000 फुट की उंचाई पर विमान का दरवाजा खोलने की कोशिश की। विमान को गंतव्य से 650 मील पहले बोरडेक्स में उतरना पड़ा। प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि वह व्यक्ति जैसे ही विमान में सवार हुआ शराब पीने लगा। उड़ान भरने के बाद तो वह बिल्कुल बेकाबू हो गया और अपनी सीट से उठकर दरवाजा खोलने के लिए चला गया। उस व्यक्ति की गर्लफ्रेंड ने उसे रोकने की कोशिश की लेकिन उसने उसे धकेल दिया। इजी जेट के प्रवक्ता ने कहा इस तरह की घटना दुर्लभ है। हम इसे गंभीरता से लेते हैं और मामला चलवाएंगे।
वो अजीबोगरीब वजहें जब हजारों फुट ऊंचाई से विमानों की करानी पड़ी आपात लैंडिंग

International News inextlive from World News Desk

International News inextlive from World News Desk