-जनरेटर स्टार्ट करते समय मफलर फंसने से पीडब्ल्यूडी कर्मचारी की मौत

-मृतक आश्रित कोटे से 2002 में मिली थी चौकीदार की नौकरी

PRAYAGRAJ: दारागंज थाना क्षेत्र के परेड ग्राउंड में बुधवार दोपहर कुंभ मेला का कार्य कर रहे पीडब्ल्यूडी कर्मचारी मो. इरशाद (35) की जनरेटर की चपेट में आने से मौत हो गई. वह जनरेटर में डीजल डालने के बाद स्टार्ट कर रहा था. इस बीच उसका मफलर जनरेटर के पंखे में फंस गया. खबर मिलते ही मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने जानकारी पुलिस को दी. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. बिलखते हुए पहुंचे परिजनों ने विभागीय अधिकारियों पर चौकीदार इरशाद से ऑपरेटर का काम लिए जाने का आरोप लगाया.

परेड ग्राउंड में हुई घटना

सोरांव थाना क्षेत्र के बुआपुर नसरतपुर गांव निवासी मो. कमरुद्दीन पीडब्ल्यूडी में कर्मचारी था. इसकी मौत के बाद बेटे मो. इरशाद को मृतक आश्रित कोटे से पीडब्ल्यूडी के विद्युत/यांत्रिक खंड कार्यालय में 2002 में चौकीदार के पद पर नौकरी मिल गई. इन दिनों उसकी ड्यूटी कुंभ मेला क्षेत्र स्थित परेड ग्राउंड में बने पांटून पुल कारखाना में थी. पुलिस के मुताबिक दोपहर में इरशाद ऑपरेटर शिवबरन के साथ जनरेटर में डीजल डलवाने के बाद स्टार्ट कर रहा था.

मौके पर ही थम गई सांसें

जनरेटर स्टार्ट करते समय अचानक उसके गले में लिपटा मफलर जनरेटर के पंखे में फंस गया. साथ रहे लोग जनरेटर बंदकर उसे बचाते कि गला कसने से इरशाद की मौके पर ही मौत हो चुकी थी. खबर सुनते ही अधिकारियों व कर्मचारियों के हाथ-पांव फूल गए. सूचना मिलने के कुछ ही देर में दारागंज पुलिस भी मौके पर पहुंच गई. घटना की पूरी जानकारी लेने के बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया. गमजदा परिजनों संग पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे मृतक के साले मो. हसनैन सहित अन्य ने आरोप लगाया कि इरशाद की ड्यूटी गेट पर होनी चाहिए थी. लेकिन उससे ऑपरेटर का काम लिया जा रहा था.

वर्जन

वहां मिले कर्मचारियों से पूछताछ की गई. मालूम चला है कि इरशाद अपनी ड्यूटी छोड़कर तेल डालने व जनरेटर चलाने का काम करने गया था. उसी वक्त उसका मफलर पंखे में फंस गया और घटना हो गई. परिजनों की तहरीर मिलने के बाद रिपोर्ट दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

विनीत सिंह, इंस्पेक्टर दारागंज