क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : डेंगू-चिकनगुनिया का डंक किस कदर शहर को अपनी चपेट में ले रखा है, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि नेशनल रुरल हेल्थ मिशन के अफसर आसिफ इकराम के घर से भी लार्वा मिला है. ऐसे में सहज ही समझा जा सकता है कि डेंगू-चिकनगुनिया का खौफ अभी खत्म नहीं हुआ है. वैसे, ये बीमारियां कहीं महामारी का रुप न ले लें, इस बाबत स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम ने पूरी ताकत झोंक दी है. प्रभावित इलाकों में हेल्थ कैंप के साथ सफाई व फॉगिंग के अलावा ब्लीचिंग छिड़काव किया जा रहा है.

रोज आ रहे हैं नए मरीज

स्वास्थ्य महकमे की तमाम कोशिशों के बाद भी डेंगू व चिकनगुनिया के हर दिन नए मरीज मिल रहे हैं. अबतक मरीजों की संख्या 368 तक पहुंच चुकी है. सबसे ज्यादा मरीज हिंदपीढ़ी इलाके में पाए गए हैं. हालांकि, कई मरीजों का इलाज हो चुका है, लेकिन नए मरीज के सामने आने से इन बीमारियों का खतरा अभी टला नहीं है. ऐसे में कैंप लगाकर मरीजों का इलाज करने के साथ मेडिसीन भी दी जा रही है.

ऑन स्पॉट लार्वा पर प्रहार

हेल्थ डिपार्टमेंट और रांची नगर निगम के अभियान के तहत 15 टीमें डोर -टू -डोर कैंपेन चला रही है. ये टीमें घर-घर जाकर इंस्पेक्शन करने के बाद लार्वा को आन स्पॉट नष्ट कर रही है. वहीं लोगों के घरों में जमे पानी के कंटेनरों को खाली कराने का काम भी टीम कर रही है. इतना ही नहीं लोगों के घरों के कबाड़ उठाने के लिए भी निगम की एक गाड़ी टैंकर के साथ चल रही है. टीम में नगर निगम के पांच, हेल्थ डिपार्टमेंट के दो, एक इंफोर्समेंट आफिसर और दो होम गार्ड शामिल है.

स्कूलों में अवेयरनेस कैंपेन

हेल्थ डिपार्टमेंट और नगर निगम की ओर से डेंगू-चिकनगुनिया से बचाव को लेकर लगातार अवेयरनेस कैंपेन चलाया जा रहा है. इस सिलसिले में स्कूलों में बच्चों को विशेष तौर पर इन बीमारियों से अवगत कराने के साथ बचाव की जानकारी दी गई. उन्हें बताया गया कि वे अपने घरों में कहीं भी पानी का जमाव नहीं होने दें. वहीं गंदगी को भी तत्काल साफ करें, ताकि डेंगू-चिकनगुनिया के खतरे से बचा जा सके.

ऐसा है डेंगू का खौफ

-317

लोगों की कैंप में हुई जांच

-05

सस्पेक्टेड लोगों का सैंपल कलेक्ट

-1038

घरों का 15 टीमों ने किया इंस्पेक्शन

-213

घरों में लार्वा मिलने की हुई पुष्टि

-3992

कंटेनरों की हेल्थ डिपार्टमेंट ने की चेकिंग

-275

कंटेनरों में मिले मच्छरों के लार्वा