- व्यवस्था नहीं होने पर मेयर ने पटरी व्यवसायियों को कार्ड बांटने से किया इनकार

- 10 जगहों को निगम ने चिन्हित तो किया लेकिन नहीं किया गया है इंतजाम

GORAKHPUR: नगर निगम की ओर से पटरी व्यावसायियों के लिए चिन्हित जगहों पर बुनियादी सुविधाओं का इंतजाम तक नहीं कर सका है। जबकि पटरी व्यवसायियों को निगम की ओर से आइडेंटिटी कार्ड जारी किए जा रहे हैं। पटरी व्यवसायियों को मेन सड़कों से हटाकर एक जगह पर व्यवस्थित किए जाने के तहत निगम ने 9 हजार व्यवसायियों का रजिस्ट्रेशन किया था। जिसके बाद व्यवसायियों को जगह आवंटित करने के लिए नगर निगम ने शहर में 10 जगहों को चिन्हित किया था। व्यवसायियों को सुविधा देने के लिहाज से मेसर्स स्काई लाइन आर कान प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को सर्वे सौंपा गया था। जिसके तहत चिन्हित जगहों पर पटरी व्यवसायियों के लिए यूरिनल, शौचालय, सड़क आदि का निर्माण किया जाना था। निगम ऐसी सुविधाओं को उपलब्ध कराने की दिशा में अभी कोई काम नहीं कर सका है फिर भी कार्ड आवंटित किए जा रहे हैं।

कार्ड मिलेगा पर जगह नहीं

नगर निगम की ओर से 9 हजार पटरी व्यवसायियाें का रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है। मुख्यमंत्री के प्रतिकात्मक रूप से आई कार्ड वितरण करने के बाद नगर निगम में भी इसकी शुरुआत की गई। लेकिन जब चिन्हित जगहों पर सुविधाओं को उपलब्ध कराने की बात की गई तो आनन-फानन में उस पर रोक लगा दी गई। पटरी व्यवसायियों ने खुद इसका विरोध किया। उनका कहना था कि जब तक व्यवसाय स्थल पर सुविधाएं नहीं मिल जाती हैं, आई कार्ड लेकर पटरी व्यवसायी क्या करेंगे?

मेयर ने वितरण से किया मना

कार्ड वितरण करने के लिए नगर निगम की ओर से पटरी व्यवसायियों को फोन कर नगर निगम बुलाया गया था। सैकड़ों लोग कार्ड लेने पहुंचे तो भीड़ संभालने में निगम कर्मियों के पसीने छूटने लगे। जिसके बाद कर्मचारियों ने मेयर से कार्ड वितरित करने का अनुरोध किया जिसे उन्होंने स्पष्ट मना कर दिया। मेयर सीताराम जायसवाल ने कहा कि जब तक व्यवसाय स्थल पर पटरी व्यवसायियों को सुविधा नहीं मिल जाती है, मैं किसी को भी कार्ड नहीं वितरित करूंगा। इसके बाद पूरे कार्यक्रम को ही टाल दिया गया।

यहां व्यवस्थित होंगे पटरी व्यवसायी

-रेलवे बस स्टेशन के सामने

-राप्ती पुल के पीछे अमरूद मंडी के पास

-थियोसोफिकल सोसायटी कैंपस अंबेडकर चौक

-आजाद चौक में रुस्तमपुर ढाला

-जनता भारती स्कूल के पास आजाद चौक

-ट्रांसपोर्ट नगर के सामने

-पुलिस लाइन के सामने

-कचहरी बस स्टेशन

-ट्रांसपोर्ट नगर के पीछे

-धर्मशाला बाजार

बॉक्स

रद्द किया गया आवंटन

पटरी व्यवसायियों को व्यवस्थित करने के नाम पर रेलवे बस स्टेशन के सामने नगर निगम ने 100 से अधिक पटरी व्यवसायियों को स्थापित किया था। जिसे कुछ ही दिनों के बाद निरस्त कर दिया गया। इस समय चर्चा है कि इस जगह को नगर निगम ने बंद कर दिया है। यहां जिन व्यवसायियों को जगह आवंटित की गई थी अब वह एक बार फिर भटकने को मजबूर हैं।

वर्जन

जब तक पटरी व्यवसायियों के लिए चिन्हित जगह पर बुनियादी सुविधाएं नहीं तैयार कर दी जाती हैं। मैं किसी को कार्ड का वितरण नहीं करूंगा। व्यवसाय स्थल पर ही मैं कार्डो का वितरण करूंगा।

- सीताराम जायसवाल, मेयर

नगर निगम वर्षो से पटरी व्यवसायियों को व्यवस्थित करने के दावे करता है, लेकिन आज तक कुछ नहीं हुआ। जब तक सुविधाएं नहीं मिलती कार्ड लेकर भी व्यवसायी क्या करेंगे।

- सुधीर झा, अध्यक्ष, पटरी व्यवसायी संघ