- अब तक घटना का दो बार हो चुका है रीक्रिएशन, आरोपियों के साथ अब तीसरी बार होगा रीक्रिएशन

- 20 से अधिक सीसीटीवी कैमरों की पड़ताल में मिले अहम सुराग

- रिमांड पर एसआईटी टीम ने प्रशांत से की पूछताछ

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW : एप्पल के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी हत्याकांड का 'असली सच' रियल टाइम पर होने वाले रीक्रिएशन से सामने आ सकता है. घटना स्थल का अब तक दो बार रीक्रिएशन हुआ है. तीसरी बार आरोपी बर्खास्त सिपाहियों के साथ एसआईटी टीम रियल टाइम पर रीक्रिएशन करेगी. शनिवार को एसआईटी ने प्रशांत चौधरी और संदीप को रिमांड पर लेकर उनसे पूछताछ की. सूत्रों का कहना है कि पड़ताल में सामने आया कि महज 60 से 90 सेकेंड ही आरोपियों का विवेक और सना से आमना सामना हुआ था. इसी बीच प्रशांत ने गोली चलाई थी.

28/29 सितंबर की रात का सच जाना टीम ने

रिमांड पर पुलिस ने प्रशांत से गोली चलाने का कारण पूछा. यही नहीं पूर्व में एकत्र किए गए साक्ष्यों के आधार पर उनसे सवाल जवाब किए गए. पुलिस ने प्रशांत से पूछा कि आखिर ऐसी कौन सी वजह थी कि उसे गोली चलानी पड़ी? सूत्रों की मानें तो एसआईटी टीम को कई अहम सुराग मिले हैं, जिससे घटना लगभग स्पष्ट हो गई है. टीम को बस फॉरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार है. एसआईटी आरोपियों के परिजनों से भी पूछताछ कर यह पता लगाएगी कि प्रशांत और संदीप ने उन लोगों को 28/29 सितंबर की रात में हुई घटना के बारे में क्या जानकारी दी है.

आईजी ऑफिस में आरोपियों से पूछताछ

आरोपियों का रिमांड मिलने के बाद शनिवार देर शाम पुलिस टीम जेल पहुंची. इसके बाद प्रशांत और संदीप को पुलिस कस्टडी में लेकर रवाना हो गई. पुलिस ने देर रात तक आईजी ऑफिस में दोनों से अलग-अलग पूछताछ की और पूर्व में दर्ज किए गए बयानों से उसका मेल कराया. घटना की रात में आरोपियों के बयान का उनके मेडिकल रिपोर्ट से भी मेल कराया गया और दोनों से जवाब मांगे गए.