1. फिल्म द शेप ऑफ वॉटर के डायरेक्ट गिलियेरमो देल तोरो ने फिल्म बनाने की शुरुआत 2011 से ही कर दी थी। उन्हें इस फिल्म पर काम करने का आइडिया ब्रेक फास्ट करते वक्त आया था।

2. पहले फिल्म को ब्लैक एंड वाह्इट में शूट करने का प्लान था पर बजट की वजह से इसे कलर में शूट किया गया। दरअसल फिल्म मेकर्स इस पिक्चर को ब्लैक एंड वाह्इट में बनाना चाहते थे पर इसके लिए लगभग 16.5 मिलियन डॉलर लग रहे थे जबकी कलर शूट के लिए लगभग 19.5 मिलियन डॉलर लग रहे थे।
oscars 2018 : बेस्‍ट फि‍ल्‍म बनी ‘द शेप ऑफ वॉटर’,डायरेक्‍टर को यूं आया था आइडिया
3. गिलियेरमो ने इस फिल्म को बनाने के लिए खुद के 2 लाख डॉलर खर्च किए हैं। स्टूडियों में शूटिंग शुरु करने से पहले ही गिलियेरमो ने फिल्म की स्क्रिप्ट और फिल्म में दिखने वाले क्रिएचर की डिजाइनिंग शुरु कर दी थी।

4. फिल्म के अंत में फिल्म मेकर्स ने पूरी टीम का स्केच शो किया और एक स्क्रिप्ट की तरह स्केच दिखाते वक्त उसके बारे में बताया भी। जब ये सब ख्तम हुआ तो स्टूडियो में मौजूद एक्जीक्यूटिव्स की आंखों में आंसू आ गए।
जब ऑस्कर अवॉर्ड में स्टेज पर ही हो गईं ये बडी़ गलतियां
oscars 2018 : बेस्‍ट फि‍ल्‍म बनी ‘द शेप ऑफ वॉटर’,डायरेक्‍टर को यूं आया था आइडिया
5. फिल्म का प्रोडक्शन किसी पहेली से कम नहीं है। दरअसल फिल्म में दिखाए गए एक्सीडेंट्स , तेज हवा का झोंका और सबजीरो टेमप्रेचर ने फिल्म की शूटिंग को काफी कठिन बना दिया था फिर भी फिल्म ने सिनेमाघरों में अपना जलवा बिखेरा।  

6. फिल्म में पानी के अंदर रहने वाले जीव की एक्टिंग करने वाले डग जॉन्स ने गिलियेरमो की कई फल्मों में काम किया है। डग ने गिलियेरमो की फिल्म मिमिक , क्रिमसन पीक और हेलबॉय जैसी फिल्मों में काम किया है।
oscars 2018 : बेस्‍ट फि‍ल्‍म बनी ‘द शेप ऑफ वॉटर’,डायरेक्‍टर को यूं आया था आइडिया
7. फिल्म की अभिनेत्री सेली हॉकिन्स से गिलियेरमो कभी नहीं मिले थे। एक बार गिलियेरमो अपने एक दोस्त के साथ आफ्टर पार्टी में गए थे। वहां उन्होंने जम के ड्रिंक कर ली और उनकी नजर उस पार्टी में हॉकिन्स पर पडी़। वो नशे की हालत में ही हॉकिन्स के पीछे दौड़ गए और उन्हें फिल्म ऑफर कर दी। गिलियेरमो के मुताबिक अगर वो ड्रंक ना होते तो कभी भी उनसे पूछ न पाते।  

8. द शेप ऑफ वॉटर फिल्म को किसी दूसरी फिल्म के मुकाबले सबसे ज्यादा नॉमिनेशन मिले थे। ये नॉमिनेशन्स फिल्म को 2018 के गोल्डन ग्लोब्स अवॉर्ड में मिले थे।
Oscar 2018 : 5 मार्च को होगा विजेता फिल्म का नाम घोषित , ये हैं वो नौ नॉमिनेटेड फिल्में
oscars 2018 : बेस्‍ट फि‍ल्‍म बनी ‘द शेप ऑफ वॉटर’,डायरेक्‍टर को यूं आया था आइडिया
9. फिल्म ने न सिर्फ गोल्डन ग्लोब्स अवॉर्ड बल्कि 2018 के कई अवॉर्ड शोज में अपना नाम रोशन किया। 2018 में जितने भी अवॉर्ड शो हुए हैं लगभग हर अवॉर्ड फिल्म ने अपने नाम किया है।

10. सभी अवॉर्ड्स में से सबसे ज्यादा यादगार अवॉर्ड फिल्म के लिए गोल्डन लायन अवॉर्ड है। ये वेनिस फिल्म फेस्टिवल का सबसे प्रेस्टीजियस अवार्ड है। ऐसा पहली बार हुआ है की कोई मैक्सीकन डायरेक्टर ने ये अवॉर्ड जीता हो।
oscars 2018 : बेस्‍ट फि‍ल्‍म बनी ‘द शेप ऑफ वॉटर’,डायरेक्‍टर को यूं आया था आइडिया

Hollywood News inextlive from Hollywood News Desk