केरल पीडि़तों की मदद छात्रों से चंदा जुटा रहे थे टीचर्स

प्रिंसिपल सहित पांच के कोतवाली थाना में एफआईआर

द्दह्रक्त्रन्य॥क्कक्त्र:

केरल के बाढ़ पीडि़तों को चंदा देने की जानकारी से इनकार करने पर टीचर्स से 11वीं के स्टूडेंट को जमकर पीटा. टीचर्स की पिटाई से स्टूडेंट के कान का परदा फट गया. घायल स्टूडेंट की सूचना पर पिता ने पुलिस को सूचना दी. नवल्स एकेडमी जुबिली शाखा के 11वीं सी के क्लास टीचर विवेकानंद त्रिपाठी, विवेक सिंह, नदीम चटर्जी उर्फ नदीम खान, प्रिंसिपल और एक अन्य अज्ञात के खिलाफ मारपीट कर छात्र को घायल करने, जानमाल की धमकी देने सहित चार धाराओं में केस दर्ज किया है. कोतवाल ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा रजिस्टर्ड कर जांच की जा रही है. आरोपों के पुष्टि के लिए स्कूल के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की जांच की जाएगी.

केरल पीडि़तों की मदद के लिए मांगा चंदा

नवल्स एकेडमी शाखा जुबिली में खूनीपुर निवासी सतीश चंद्र गुप्ता का बेटा दिव्यांश चंद 11वीं सी का स्टूडेंट है. शुक्रवार को स्कूल में केरल बाढ़ पीडि़तों के लिए चंदे की रकम जुटाई जा रही थी. क्लास टीचर विवेकानंद त्रिपाठी ने दिव्यांश से चंदा देने की बात की. छात्र ने कहा कि उसे पहले से बताया नहीं गया था. इसलिए उसने चंदा देने में असमर्थतता जताई. आरोप है कि इससे नाराज होकर टीचर ने छात्र को अपशब्द कहना शुरू कर दिया. छात्र ने जब प्रतिकार किया तो क्लास टीचर ने उसकी पिटाई शुरू कर दी. दो अन्य टीचर्स विवेक सिंह और संदीप चर्टी उर्फ नदीम खान को बुला लिया. तीनों टीचर्स से छात्र की जमकर पिटाई कर दी.

टीचर की पिटाई से फटा कान का परदा

पिता का आरोप है टीचर्स की पिटाई से उनके बेटे के कान का परदा फट गया. इसकी जानकारी होने पर वह बेटे को लेकर जिला अस्पताल इलाज कराने गए. तभी किसी अज्ञात व्यक्ति ने सतीश के मोबाइल फोन पर कर कहा कि बताया कि विवेकानंद का बड़ा भाई बोल रहा हूं. धमकी भरे लहजे में फोन करने वाले कहा कि इस मामले में शांत हो जाओ नहीं तो तुम्हारी खैर नहीं है. तहरीर के आधार पर कोतवाली पुलिस ने तीन नामजद टीचर्स, प्रिंसिपल और एक अन्य अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर लिया. परिजनों का आरोप है कि पूरी घटना सीसीटीवी कैमरों की फुटेज में कैद हो गई है. जबकि अन्य छात्रों ने इस घटना को देखा है. कोतवाली पुलिस आरोपों की जांच में जुटी है.

छात्र पर कसीदा कसने का आरोप

मामला सामने आने पर स्कूल प्रशासन ने इसकी जांच कराई. स्कूल प्रशासन के लोगों का कहना है केरल त्रासदी में मदद के लिए जुटाए जा रही त्रासदी को लेकर छात्र ने अभद्र टिप्पणी की थी. इसको लेकर टीचर ने छात्र को डांटा था. पिता ने मामले की शिकायत स्कूल में की तो उनको समझाने का प्रयास किया गया. बाद में गार्जियन ने तहरीर देकर मुकदमा दर्ज करा दिया. हालांकि मेडिकल रिपोर्ट सहित अन्य दस्तावेजों के आधार पर पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है. परिजनों का कहना है कि वह सेना में जाना चाहता था. वह एनडीए की तैयारी कर रहा था.

वर्जन

छात्र के पिता की तहरीर मिली थी. मुकदमा दर्ज कर छात्र का मेडिकल परीक्षण कराया गया है. डॉक्टर्स की रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई क जाएगी. घटना की तस्दीक करने के लिए स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद ली जाएगी.

गिरजेश तिवारी, कोतवाल

स्कूल में मेरे बच्चे को पीटकर कमरे में बंद कर दिया गया था. वह दो घंटे तक कमरे में पड़ा तड़पता रहा. हम स्कूल में पहुंचे तो उससे मिलने नहीं दिया गया. हमको स्कूल में हड़काया गया. मैं स्कूल से जिला अस्पताल गया तो डॉक्टर्स ने कान का पर्दा फट गया है. बाएं कान में चोट गंभीर चोट लगी थी. हमको कुछ लोगों ने फोन करके धमकी दी थी.

सतीश चंद गुप्ता, छात्र के पिता