patna@inext.co.in
PATNA : चौक थाना अंतर्गत कंगन घाट में गुरुवार की दोपहर 12:25 बजे रेङ्क्षलग से एक किशोरी ने गंगा में छलांग लगा दिया। किशोरी के उफनती नदी में छलांग लगाते ही घाट के आसपास क्षेत्र में हड़कंप मच गया। स्थानीय लोगों ने चौक थानाध्यक्ष मितेश कुमार को सूचना दिया। थानाध्यक्ष ने एसडीआरएफ टीम को बुलाकर खोजबीन शुरू कराया। देर शाम तक एसडीआरएफ टीम के सदस्य गंगा से किशोरी की लाश खोजने में विफल रहे।

फोन पर भाई से की थी बात

घटना के बाद कंगन घाट पहुंचे किशोरी के मामा राजीव रंजन मेहता ने बताया कि मेहंदीगंज थाना अंतर्गत रानीपुर कालीस्थान में रहने वाले नरेश प्रसाद की 15 वर्षीया पुत्री निशा कुमारी इसी वर्ष कुशवाहा बालिका विद्यालय से मैट्रिक पास किया है। वह चौक के समीप प्रतिदिन दस बजे कोङ्क्षचग करने आती थी। मामा के अनुसार गुरुवार को भी निशा घर से कोङ्क्षचग करने निकली। दोपहर 12:21 बजे निशा ने बड़े भाई विकास को मोबाइल पर फोन करके बोला कि हम गंगा में डूबने जा रहे हैं। यह कहकर किशोरी ने गंगा में छलांग लगा दिया। भाई के अनुसार बहन ने बताया था कि वह चौक शिकारपुर में है। फोन करने के समय वह कंगन घाट पर ही थी।

देखते-देखते कूद गई गंगा में
कंगन घाट पर प्रत्यक्षर्दिशयों ने बताया कि निशा रेलिंग के समीप बैठे तीन छात्रों से बातचीत कर रही थी। रेङ्क्षलग पर खड़ा होने के दौरान एक छात्र भी था। मोबाइल से बात करने के बाद देखते-देखते निशा ने गंगा में छलांग लगा दिया। घाट पर खड़े लोग गंगा की उफनती लहर को देख उसे बचाने की हिम्मत नहीं जुटा सके।

मां और भाई बैंक से निकाल रहे थे रुपये

मामा ने बताया कि जिस समय निशा ने मोबाइल पर फोन किया। उस समय किशोरी की मां रीता देवी व भाई विकास कुमार झाउगंज स्थित बैंक ऑफ इंडिया में थे। बहन का फोन सुनते ही मां और भाई चौक शिकारपुर की ओर खोजते हुए गए। रास्ते में किशोरी नहीं मिली। मां और भाई बैचेनी के साथ निशा को खोजने में जुटे रहे। भाई ने बहन के द्वारा किए गए फोन की जानकारी अन्य परिजनों को दिया। मामा ने भांजी के गंगा में छलांग लगाने की बात की जानकारी चौक थानाध्यक्ष मितेश कुमार को दिया। थानाध्यक्ष ने परिजनों को बताया कि पीला सूट पहने एक लड़की कंगन घाट पर गंगा में छलांग लगाई है।

एसडीआरएफ की टीम ने किया खोजबीन
किशोरी के गंगा में छलांग लगाए जाने के एक घंटे बाद पहुंची एसडीआर एफ की टीम के सदस्यों ने वोट से गंगा में खोजबीन शुरू की। कंगन घाट से लेकर दीदारगंज तक वोट से  खोजबीन की गई। गंगा में तेज धार के कारण एसडीआरएफ टीम को खोजबीन में काफी परेशानी हो  रही थी। शाम सात बजे तक खोजबीन के बाद भी किशोरी का पता नहीं चल सका। गंगा में छलांग लगाने वाली  किशोरी के पिता नरेश प्रसाद किसान हैं। मां रीता देवी गृहिणी हैं। दो बहन व एक भाई में निशा सबसे छोटी है।

कानपुर एसपी सुरेंद्र दास का नानवेज खाने को लेकर पत्‍नी से हुआ था झगड़ा

पत्नी को 'आई लव यू' कहकर कानपुर एसपी ने खाया जहर, पढ़ें क्या-क्या लिखा सुसाइड लेटर में

Crime News inextlive from Crime News Desk