भारतीय वैज्ञानिक और उनकी टीम ने की खोज

हाल ही में कनाडा की कैलगरी यूनीवर्सिटी में भारतीय मूल के प्रोफेसर जयदीप बेंस और उनकी टीम ने एक बड़ी रिसर्च के बाद दावा किया है कि Tension यानि मानसिक तनाव दरअसल एक संक्रामक रोग की तरह है, जो आपके करीबी लोगों से आप में भी घर कर सकता है। कहने का मतलब यह है कि अगर आपका पार्टनर तनाव में रहता है, तो इस बात की पूरी आशंका है कि आप भी इसकी चपेट में आ सकते हैं। इस रिसर्च के दौरान लंबे समय तक चूहों की मॉनिटरिंग के दौरान ये रिजल्‍ट निकला कि तनाव के कारण कि किसी के भी दिमाग में बदलाव आ सकता है।

तनाव और भावनाएं फैलती हैं संक्रामक रोग की तरह

तनाव से जुड़ी इस रिसर्च को लेकर वैज्ञानिक टीम ने बताया कि मानव दिमाग में तनाव का संबंध PTSD यानि पोस्टट्रॉमैटिक स्ट्रेस डिसआर्डर से होता है। कहने का मतलब यह है कि तनाव का किसी के जीवन में मौजूद उतावलेपन और डिप्रेशन से सीधा संबंध होता है। यही नहीं रिसर्च में यह बात भी सामने आई कि तनाव और भावनाएं काफी संक्रामक होती हैं और आसपास वाले करीबी लोगों में भी ट्रांसफर हो सकती हैं। इस रिसर्च में वैज्ञानिकों ने नर और मादा चूहे के कई जोड़ों पर काफी लंबा अध्‍ययन किया, जिसमें यह बात सामने आई कि अगर आपका पार्टनर तनाव ग्रस्‍त है तो आप पर भी इसका असर पड़ना पूरी तरह पॉसिबल है।

आपके पार्टनर का तनाव आपको भी कर सकता है बीमार,इससे बचना है तो करें यह काम!


तनाव के संक्रमण से बचना है तो रोज सूंघिए अपने पार्टनर के कपड़े

अगर आपका पार्टनर तनाव या तनाव का शिकार है और आप खुद इस बीमारी के संक्रमण से बचना चाहते हैं तो रोज अपने पार्टनर के कपड़ों को कुछ देर तक सूंघिए, आपका तनाव काफूर हो जाएगा। यह हम नहीं कह रहे हैं बल्कि विज्ञान कह रहा है। जी हां इसी साल जनवरी में University of British Columbia द्वारा जारी किए गए एक रिसर्च के परिणामों में यह बात सामने आई है कि आप महिला हों या पुरुष अगर आप रोजाना अपने पार्टनर या उसके कपड़ों की महक सूंघते हैं तो आपका तनाव सामान्‍य से करीब आधा हो जाएगा।

International News inextlive from World News Desk