फाफामऊ के बारी गांव में हादसा, एक ने मौके पर दूसरे ने एसआरएन हॉस्पिटल में तोड़ा दम

ALLAHABAD: कच्चे मकान की दीवार गिरने से शनिवार की सुबह दो महिलाएं मलबे में दब गई. जब तक उन्हें बाहर निकाला जाता, एक दम तोड़ चुकी थी. दूसरी को एसआरएन हॉस्पिटल लाया गया जहां उसने भी देर शाम दम तोड़ दिया. फाफामऊ के बारी गांव में हुआ.

किसान हैं दोनों के पति

बारी गांव के रामचंद्र पाल का कच्चा मकान काफी पुराना और जर्जर हो गया था. शनिवार सुबह कच्ची दीवार के पास अमरावती (55) पत्‍‌नी रामचंद्र झाड़ू लगा रही थी. इसी बीच पहुंची पड़ोस के लल्लन सरोज की पत्‍‌नी राम संवरी (50) उससे बातें करने लगी. दोनों बात में मशगूल थीं कि अचानक कच्ची दीवार मौत बनकर उन पर झपट पड़ी. जानकारी होते ही लोग दौड़ पड़े. ग्रामीणों ने दोनों महिलाओं को किसी तरह बाहर निकाला. तब तक अमरावती दम तोड़ चुकी थी. गंभीर हालत में रामसंवारी को लोग गांव के अस्पताल में ले गए. जहां उसे एसआरएन हॉस्पिटल के लिए रेफर कर दिया गया. यहां हॉस्पिटल में इलाज के दौरान रामसंवारी की भी मौत हो गई. दोनों महिलाओं की मौत से उनके परिवार में कोहराम मच गया. पोस्टमार्टम हाउस पर पहुंचे दोनों के परिजनों में गम के साथ गुस्सा भी था. कहना था कि इतनी बड़ी घटना होने के बावजूद दोपहर तक कोई प्रशासनिक अधिकारी उनके घर नहीं पहुंचा. लेखपाल तक ने पहुंचना जरूरी नहीं समझा.