-दुकानों पर नहीं होती सफाई, फैल रही गंदगी

-सार्वजनिक शौचालय व यूरिनल का मार्केट में अभाव

-अतिक्रमण के कारण सड़कों का है बुरा हाल

GORAKHPUR: जीडीए की अनदेखी के कारण व्यापारियों का व्यवसाय चौपट होता जा रहा है. भगत चौराहा स्थित मार्केट में जनरल मर्चेट, कपड़ा, कैफे, शो रूम सहित 500 से अधिक दुकानें हैं. जिनकी तरफ जीडीए के जिम्मेदारों की नजर कभी नहीं जाती है. जिससे मार्केट में सफाई व्यवस्था की स्थिति तो बदहाल ही है. साथ ही सार्वजनिक शौचालय, यूरिनल और पीने के साफ पानी का भी इंतजाम नहीं है. पब्लिक टॉयलेट नहीं होने से मार्केट में आने वाली लेडीज कस्टमर्स को काफी प्रॉब्लम होती है. व्यापारियों ने बताया कि यहां सुरक्षा के भी पर्याप्त इंतजाम नहीं हैं जिसके कारण आए दिन चोरी सहित अपराधिक घटनाएं होती रहती हैं. वहीं मार्केट में वाइन शॉप होने के कारण रात को ड्रंकर सक्रिय हो जाते हैं. जिसके कारण राहगीरों को काफी समस्या होती है. लाखों लोग मार्केट में आते हैं जिन्हें तमाम समस्याओं को झेलना पड़ता है.

नहीं है सफाई व्यवस्था

भगत चौराहा स्थित मार्केट के व्यापारियों ने बताया कि सड़कों पर कूड़ा हर समय बिखरा रहता है, डस्टबिन की भी व्यवस्था नहीं है और मार्केट की सड़कें भी दुरुस्त नहीं हैं जिसके कारण दुर्घटनाएं भी बढ़ रही हैं. व्यापारियों ने कई बार सड़कों को दुरुस्त करने की मांग की है. लेकिन जिम्मेदार मांगों को अनसुना कर देते हैं.

सुरक्षा के नहीं इंतजाम

मार्केट में सुरक्षा के इंतजाम भी नहीं हैं. सुरक्षाकर्मियों की सतर्कता के अभाव में मार्केट की कई दुकानों पर चोरी की घटनाएं हो चुकी हैं. मार्केट में स्थित वाइन शॉप के कस्टमर्स भी व्यापारियों व राहगीरों के लिए समस्या बन जाते हैं. व्यापारियों ने बताया कि सुरक्षाकर्मी को तैनात कर दिया जाए, जिसका खर्च भी वह भुगतान करने को तैयार हैं. व्यापारियों का कहना था कि सिटी से दूर होने के कारण रात के समय मार्केट में अराजक तत्व सक्रिय हो जाते हैं.

व्यापारियों के सुझाव-

-सफाई व्यवस्था बेहतर करने के लिए इंतजाम किया जाए.

-मार्केट की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए, जिससे बढ़ती घटनाओं पर लगाम लग सके.

-मार्केट में बाहरी तत्वों द्वारा किए गए अतिक्रमण को हटाया जाए.

-डस्टबिन की पर्याप्त व्यवस्था की जाए.

कोट-

मार्केट की सफाई व्यवस्था का कोई इंतजाम नहीं है. ज्यादा गंदगी होने पर हम लोगों को खुद से चंदा लगाकर सफाई करवानी पड़ती है.

अशोक तिवारी, बिजनेसमैन

सार्वजनिक शौचालय व पेयजल की व्यवस्था नहीं होने से कस्टमर्स को काफी परेशानी होती है. जो टोटी लगाई गई हैं उनमें से पानी नहीं आता है.

मिथिलेश सिंह, बिजनेसमैन

मार्केट की सुरक्षा व्यवस्था को बेहतर करने की जरूरत है. हाल ही में चोरी की कई घटनाएं हो चुकी हैं, जिनके अपराधी अभी भी लापता हैं.

संतोष शर्मा, बिजनेसमैन

पब्लिक टॉयलेट नहीं होने से लेडीज कस्टमर्स को काफी परेशानी होती है. पुराना टॉयलेट ध्वस्त हो चुका है.

सिकंदर यादव, बिजनेसमैन

मार्केट में रात के समय अराजक तत्व इक्ट्ठा हो जाते हैं. इन पर लगाम लगाने की जरूरत है, जिससे कस्टमर्स सुरक्षित रहें.

सुमित श्रीवास्तव, बिजनेसमैन