PATNA: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्ब् अक्टूबर को पटना यूनिवर्सिटी आ रहे हैं. इस दौरान मोदी चार परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे. इसमें गंगा नदी पर राजेंद्र पुल के समानांतर बनने वाले म् लेन वाले औंटा-सिमरिया पुल पर क्क्म्क् करोड़ रुपए खर्च किए होंगे. इसमें एप्रोच रोड व आठ कलवर्ट का खर्च भी शामिल है. जानकारी के अनुसार जिन चार परियोजनाओं में सबसे ज्यादा खर्च इस परियोजना पर किया जा रहा है. औंटा-सिमरिया पुल के कार्यारंभ के बाद यह ब्ख् महीने में बनकर तैयार हो जाएगा. एप्रोच रोड के लिहाज से यह पुल राजेंद्र सेतु से अधिक लंबा है. इसकी लंबाई 8.क्भ्0 किमी है. इसमें दो मेजर जंक्शन और आठ कलवर्ट है. एलिवेटेड स्वरूप में इसका दक्षिणी हिस्सा नए मोकामा-बख्तियारपुर सड़क से जुड़ेगा. इस पुल के निर्माण का जिम्मा वेलस्पन इंटरप्राइजेज लिमिटेड को मिला है.

2019 तक तैयार होगा फोरलेन

नए एलायनमेंट पर बन रहे मोकामा-बख्तियारपुर फोरलेन सड़क का भी मोदी को कार्यारंभ करना है. इसके निर्माण में 8फ्7.09 करोड़ रुपए खर्च होंगे. सड़क की लंबाई ब्ब्.ब्00 किमी है. निर्माण कार्य पूरा करने के लिए क्क् दिसंबर 2019 तक का समय तय किया गया है. इसके तहत एक बाईपास का भी निर्माण होना है. इस सड़क में कुल क्09 कलवर्ट है. यह सड़क समानांतर एनएच फ्क् के समानांतर बनेगी. निर्माण बीएससीपीएल इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड करेगा. नरेंद्र मोदी मोकामा में बिहारशरीफ-बरबीघा-मोकामा सड़क (एनएच-8ख्) के निर्माण कार्य भी शुरू करेंगे. पूर्व में यह सड़क स्टेट हाईवे का हिस्सा थी. अब यह सड़क एनएच में अपग्रेड हो गई है. इस सड़क की लंबाई भ्ब्.भ्7भ् किमी है. इसमें तीन बड़े पुल का भी निर्माण होना है और ख्8 छोटे पुल का. इस सड़क को ख्97.ख्7 करोड़ रुपए की लागत से बनाया जाएगा. जिस चौथी सड़क महेशखूंट-सहरसा सड़क है. दो लेन सड़क के निर्माण पर 7फ्म्.0क् करोड़ रुपए खर्च होंगे.